2021 में ऑस्ट्रेलिया में सबसे तेजी से बढ़ी हिंदुओं की आबादी, ईसाइयों की संख्या 50 फीसदी से कम

कैनबेरा

ऑस्ट्रेलिया में जनगणना के डेटा ने हैरान करने वाले आंकड़े सामने रखे हैं। ऑस्ट्रेलिया में हर पांच साल में जनगणना होती है। नवीनतम जनगणना 2021 में हुई है। आंकड़ों के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया की आबादी 2.5 करोड़ हो गई है। एक समय खुद को ईसाई देश कहने वाले ऑस्ट्रेलिया में ईसाइयों की संख्या 50 फीसदी से भी कम रह गई है। पांच दशक पहले ऑस्ट्रेलिया में ईसाई आबादी 90 फीसदी थी।

ऑस्ट्रेलियन ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स (ABS) के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया में 44 फीसदी लोग ऐसे हैं जो ईसाई हैं। हिंदू और मुस्लिम ऑस्ट्रेलिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाला धर्म है। लेकिन इन धर्मों को मानने वालों की आबादी सिर्फ कम है। हिंदुओं की आबादी 2.7 फीसदी और मुस्लिमों की 3.2 फीसदी है। भले ही ये आंकड़ा देखने में बहुत छोटा लगे, लेकिन ये पिछली जनगणा से बहुत ज्यादा है। 2016 में हिंदुओं की जनसंख्या ऑस्ट्रेलिया की कुल आबादी का 1.9 फीसदी और मुस्लिम 2.6 फीसदी थे। पिछली बार की अपेक्षा में हिंदू धर्म सबसे तेजी से बढ़ा है।

सबसे ज्यादा हिंदू बढ़े
2016 में मुस्लिमों की आबादी 604,240 थी जो 2021 में 813,392 हो गई। मुस्लिमों की आबादी में 209,152 लोगों की बढ़ोतरी है। वहीं हिंदुओं की आबादी 2016 में 440,300 थी जो 2021 में 684,002 हो गई है, इसमें 243,702 की बढ़ोतरी हुई है। ऑस्ट्रेलिया में 39 फीसदी लोग ऐसे हैं जो किसी धर्म को नहीं मानते। दूसरे देशों में पैदा हुए लोग जो ऑस्ट्रेलिया में रह रहे हैं उस मामले में भारतीय दूसरे नंबर पर हैं। इंग्लैंड के लोग ऑस्ट्रेलिया आने के मामले में पहले नंबर पर हैं। वहीं चीनी नागरिक तीसरे नंबर पर हैं।

भारत से बड़ी संख्या में आ रहे लोग
माइग्रेशन के डेटा की अगर बात करें तो 2016 से लगभग 10 लाख लोग ऑस्ट्रेलिया आए हैं। इनमें से 25 फीसदी लोग भारत से हैं। ऑस्ट्रेलिया में घर खरीदने का डेटा स्थिर है। 1996 के बाद से गिरवी रखने वालों की संख्या दोगुनी हुई है, जिसके बाद कीमतें आसमान छू रही हैं। 2022 की रिपोर्ट के मुताबिर ऑस्ट्रेलियाई शहर अब आवास खरीदने के सामर्थ्य में विश्व में सबसे खराब स्थान पर हैं।

About bheldn

Check Also

‘बाइडेन को याद नहीं कि…’, राष्ट्रपति चुनाव से नाम वापस लेने के बाद डोनाल्ड ट्रंप का तंज

नई दिल्ली, अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव से जो बाइडेन के अपना नाम वापस लेने के …