हो गया साफ, फडणवीस ने बता दिया किसने बनाया एकनाथ शिंदे को सीएम

नागपुर

महाराष्ट्र के सीएम पद के लिए एकनाथ शिंदे का नाम राजनीतिक दलों समेत तमाम सियासी पंडितों के लिए चौंकाने वाला था। अब डेप्युटी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया है कि उन्होंने ही बीजेपी नेतृत्व को एकनाथ शिंदे को नया मुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव दिया था। फडणवीस ने यह भी स्वीकार किया कि वह उप मुख्यमंत्री का पद संभालने के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं थे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चर्चा और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के हस्तक्षेप के बाद उन्होंने अपना निर्णय बदल दिया।

नागपुर पहुंचे फडणवीस ने कहा कि बीजेपी नेतृत्व का मानना था कि उन्हें सरकार का हिस्सा होना चाहिए, क्योंकि संविधानेतर प्राधिकार के माध्यम से सरकार चलाना सही नहीं होगा। संवाददाताओं से यहां बात करते हुए फडणवीस ने कहा कि बीजेपी-शिवसेना गठबंधन ने 2019 का चुनाव जीता था, लेकिन जनादेश चुरा लिया गया। उन्होंने कहा कि इसलिए उनकी पार्टी और शिंदे के नेतृत्व वाला शिवसेना का गुट सत्ता के लिए नहीं, बल्कि समान विचारधारा के लिए एक साथ आए हैं।

‘शिंदे को सीएम बनाने का प्रस्ताव मैं लेकर गया था’
देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘हमारे नेता नरेंद्र मोदी जी, अमित शाह और जेपी नड्डाजी और मेरी मंजूरी से (शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला लिया गया)… यह कहना गलत नहीं होगा कि शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव मैं लेकर गया था और उन्होंने (बीजेपी आलाकमान) इसे स्वीकार कर लिया।’’

‘मैंने सरकार से बाहर रहने का फैसला किया था’
गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के शक्ति परीक्षण से पहले मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद, शिंदे ने 30 जून को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी, जबकि फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। उन्होंने कहा, ‘यह भी तय किया गया था कि मैं सरकार से बाहर रहूंगा। लेकिन बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुझे फोन किया और कहा कि पार्टी ने (मुझे उपमुख्यमंत्री बनाने का) फैसला किया है। यहां तक कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी मुझसे बात की थी।’

फडणवीस ने कहा कि वह उपमुख्यमंत्री का पद स्वीकार करने के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं थे और उन्होंने मन बना लिया था कि वह बाहर से एकनाथ शिंदे सरकार की मदद करेंगे। उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैंने अपने नेताओं के आदेश का पालन करते हुए अपना फैसला बदल दिया।’

About bheldn

Check Also

यूपी में ED का अब तक का सबसे बड़ा ऐक्शन, पूर्व BSP एमएलसी इकबाल की 4400 करोड़ की संपत्ति अटैच

लखनऊ: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने यूपी में सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पूर्व बीएसपी एमएलसी …