UP: ‘गिरफ्तारी के बाद मेरे बेटे को मारी गोली’, गो-तस्कर के एनकाउंटर पर उठे सवाल

कानपुर,

उत्तर प्रदेश के कानपुर में रविवार रात पुलिस और कथित गो-तस्करों के बीच हुआ एनकाउंटर सवालों के घेरे में आ गया है. घाटमपुर के मूसा नगर रोड पर पुलिस ने आधी रात को गो-तस्करों से एनकाउंटर होने का दावा किया था, लेकिन पुलिस के इस दावे पर आरोपी के पिता ने सवाल उठाया है. उन्होंने इस एनकाउंटर को फर्जी बताया है.

इससे पहले सीओ सुशील कुमार दुबे ने दावा किया था कि घाटमपुर थाने के इंस्पेक्टर एसके सिंह को दिलशाद के ट्यूबबेल पर गोकसी की सूचना मिली थी, इस पर वे वहां गए तो तीन गो-तस्करों ने पुलिस पर फायर कर दिया, जिसमें गो-तस्कर दिलशाद घायल हो गया. खुद इंस्पेक्टर एसके सिंह भी घायल हो गए. पुलिस ने दिलशाद को बड़ा गो-तस्कर बताया था.

पुलिस के इस दावे पर दिलशाद के पिता के आरोपों से नया मोड़ आ गया. दिलशाद के पिता हाजी शमशेर मीडिया के सामने आये. उन्होंने घाटमपुर इंस्पेक्टर एसके सिंह पर आरोप लगाया कि हमारी मकान और जायजाद की लड़ाई है, इंस्पेकटर ने उसमे दूसरे पक्ष से मिलकर मेरे बेटे को फर्जी ढंग से एनकाउंटर में घायल किया है.

हाजी शमशेर का आरोप है, ‘पुलिस वाले मेरे बेटे को दो घंटे पहले घर के पास से पकड़ कर ले गए थे, इंस्पेक्टर दूसरी पार्टी से मिलकर पहले ही फंसाने और गोली मारने की धमकी दे चुके थे, मैंने उनसे कहा था कि आप हाकिम हैं, कुछ भी कर सकते हैं, बेटे को ले जाते ही मैंने इसकी शिकायत डीजीपी, राज्यपाल, एसपी सबको फैक्स से दे दी थी.’

हाजी शमशेर ने कहा, ‘पुलिसवालों ने गिरफ्तारी के बाद मेरे बेटे को गोली मार दी.’ पिता ने वो अप्लीकेशन भी दिखाई जो उन्होंने पकड़े जाने के बाद थाने में दी थी.इस मामले के तूल पकड़ने पर एसपी आउटर तेज स्वरूप सिंह का कहना है कि पिता के आरोपों की जांच के लिए एक टीम बनाई है, वह जांच करके रिपोर्ट देगी, वैसे दिलशाद पर घाटमपुर थाने में आधा दर्जन से ज्यादा केस दर्ज है, जिसमें कई गोकसी के भी है, ये जानकारी घाटमपुर के एसएसआई राहुल ने फोन पर दी.

About bheldn

Check Also

बलौदाबाजार घटना को लेकर भाजपा ने भी जांच कमेटी का किया गठन

रायपुर। बलौदाबाजार घटना को लेकर भाजपा ने भी जांच कमेटी का गठन किया है। बीजेपी …