नूपुर शर्मा बाहर और जुबेर जेल में क्यों? केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के सामने जब आया यह सवाल

नई दिल्ली

बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के बयान को लेकर हाल ही में सुप्रीम कोर्ट की ओर से सख्त टिप्पणी की गई। इस टिप्पणी पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी से जब यह पूछा गया कि तो उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट पर वो कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते। हालांकि उन्होंने कहा कि कोई और कहता तो मैं सहमत नहीं होता। मंगलवार इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में मुख्तार अब्बास नकवी से पूछा गया कि ऐसे ही मामले में जुबैर जेल में और नूपुर शर्मा बाहर क्यों। इस सवाल के जवाब में बोलते हुए मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस देश की संस्कृति सर्वे भवंतु सुखिनः … की है इसमें किसी एक धर्म या जाति के सुख की बात नहीं कही गई है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि किसी मजहब के सुख की बात नहीं है यहां मानवता के सुख की बात है। कुछ नादान हैं जो इस संस्कृति को नहीं समझ पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा का बयान सुनकर मुझे अफसोस हुआ। हम किसी दूसरे धर्म का भले ही कम सम्मान करें लेकिन अपमान नहीं करना चाहिए। यह बात किसी एक धर्म के लिए नहीं है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने कभी उनके बयान को सही नहीं ठहराया है और न ही जस्टिफाई करने की कोशिश की है।

माहौल ना बिगड़े
नूपुर शर्मा के बयान के बाद अलकायदा का बयान आता है पाकिस्तान की ओर से बयान दिया जाता है। समझिए इस बात को और रही बात कार्रवाई की तो किसी दबाव में ऐसा नहीं हुआ। हाल के समय में क्या कट्टरता बढ़ी है। इस सवाल के जवाब में मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि दुनिया में रहने वाले दस मुसलमान में से एक भारत में है। इतनी सारी मस्जिदें है। क्या कोई भेदभाव हो रहा है। वहीं फिल्मों से जुड़े विवाद के एक सवाल पर उन्होंने कहा कि फिल्मों की धार समाज को जोड़ने के लिए हो न कि तोड़ने के लिए।

About bheldn

Check Also

MP: चुनाव हार गए नरोत्तम मिश्रा… 8800 वोट से मिली शिकस्त, लगातार 3 बार से थे दतिया के विधायक

दतिया, मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने अप्रत्याशित जीत हासिल की है. मगर, एमपी …