वंदे भारत ट्रेन से मजदूर ज्यादा जाते हैं… मोदी ने सुनाया काशी के अपने सरप्राइज दौरे का किस्सा

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल गुजरात में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए काशी की अपनी एक सरप्राइज विजिट का किस्सा सुनाया। पीएम डिजिटल इंडिया वीक 2022 का उद्घाटन करने के बाद लोगों से मुखातिब थे। उन्होंने बताया, ‘मैं अभी काशी गया था। दिन में इधर-उधर जाता हूं तो ट्रैफिक… लोगों को परेशानी होती है तो काशी में रात को एक-डेढ़ बजे रेलवे प्लेटफॉर्म पर चला गया देखने के लिए कि कहां क्या हाल है।’ मोदी ने कहा कि वहां का एमपी हूं तो काम तो करना है। इस पर मोदी और सामने बैठे लोगों के चेहरों पर भी मुस्कान छा गई। तालियां बजने लगीं। फिर मोदी बोले कि मैं वहां यात्रियों से बात कर रहा था, स्टेशन मास्टर से बात कर रहा था क्योंकि मेरा सरप्राइज विजिट था, किसी को बताकर तो गया नहीं था।

मोदी ने बताया, ‘मैंने पूछा कि ये जो वंदे भारत ट्रेन चल रही है, क्या अनुभव है? ऑक्यूपेंसी कितनी रहती है? वे बोले कि अरे साहब, इतनी उसकी मांग है कि हमें कम पड़ रहे हैं। मैंने कहा कि ये तो ट्रेन थोड़ी महंगी है। इसकी टिकट ज्यादा लगती है। इसमें लोग क्यों जाते हैं। बोले, साहब इसमें मजदूर लोग सबसे ज्यादा जाते हैं। गरीब लोग सबसे ज्यादा जाते हैं।’

मोदी ने बताया कि उन्होंने पूछा कि कैसे भई, मेरे लिए सरप्राइज था। बोले कि वे दो कारण बताते हैं। एक, वंदे भारत ट्रेन में स्पेस इतनी है कि सामान उठाकर लेकर जाते हैं तो रखने की जगह मिल जाती है। दूसरी वजह यह थी कि समय जाने में छह-आठ घंटे बढ़ जाता है तो वहां तुरंत काम पर लग जाता हूं तो छह-आठ घंटे में जो कमाई होती है टिकट तो उससे भी कम होती है। मोदी ने कहा कि गरीब का अपना एक हिसाब है।

मोदी ने कहा कि टाइम इज मनी… गरीब कैसे हिसाब लगाता है। बहुत पढ़े-लिखे लोगों को इसकी समझ बहुत कम होती है। इस पर लोग ठहाका लगाकर हंसने लगे। आपको बता दें कि वंदे भारत ट्रेन वाराणसी-दिल्ली का एसी चेयर कार का किराया 1750 रुपये और एक्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया करीब 3300 रुपये बैठता है।

About bheldn

Check Also

राहुल गांधी ने संविधान की कॉपी हाथ में लेकर ली शपथ, चेयर के पीछे खड़े मार्शल से भी मिलाया हाथ

नई दिल्ली, कांग्रेस नेता और रायबरेली से सांसद राहुल गांधी ने आज संसद में शपथ …