अपने घर में रखो इसे…हर घर तिरंगा अभियान पर यह क्या बोल गए फारूक अब्दुल्ला!

श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम और नैशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला का एक बयान चर्चा में है। केंद्र की ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को लेकर जब उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उसे अपने घर पर रखना। फारूक के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 15 अगस्त को ‘हर घर तिरंगा’ अभियान शुरू करने का फैसला लिया है।

दरअसल फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर के बाजार में एक दुकान पर पहुंचे थे। यहां से निकलते वक्त उन्हें कुछ पत्रकारों ने घेर लिया। पहले उनसे विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के बारे में पूछा गया। इस पर फारूक ने बताया कि 9 जुलाई को यशवंत सिन्हा कश्मीर आ रहे हैं। इसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी।

फारूक के बयान की हो रही किरकिरी
फारूक अब्दुल्ला से एक पत्रकार ने ‘हर घर तिरंगा’ अभियान पर प्रतिक्रिया मांगी। उसने पूछा कि इस अभियान को वह कैसे देखते हैं। इस पर फारूक ने कश्मीरी भाषा में जवाब दिया, ‘वो अपने घर पर रखना।’ फारूक के इस बयान की खूब किरकिरी हो रही है। जम्मू-कश्मीर के ग्रामीण विभाग ने एक ऑर्डर जारी कर ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को सफल बनाने की अपील की है।

क्या है ‘हर घर तिरंगा’ अभियान?
केंद्र सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 15 अगस्त को ‘हर घर तिरंगा’ अभियान शुरू करने का फैसला लिया है। इसके तहत लोगों को अपने घरों में तिरंगा फहराने के लिए प्रोत्साहित करने का निर्णय लिया गया। आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर केंद्र सरकार आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है।

राष्ट्रपति की उम्मीदवारी से किया इनकार
इससे पहले यूपीए की बैठक में फारूक अब्दुल्ला का नाम राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए प्रस्तावित किया गया था लेकिन उन्होंने चुनाव न लड़ने की इच्छा जाहिर की थी। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम ने कहा था, ‘इस पर काफी विचार के बाद मेरा मानना है कि जम्मू-कश्मीर इस समय कठिन हालात से गुजर रहा है, जिससे निपटने के लिए मेरी मदद की जरूरत है। इसलिए मैं अपना नाम आदर के साथ वापस लेता हूं।’ उन्होंने ममता बनर्जी और दूसरे नेताओं का आभार व्यक्त किया था।

About bheldn

Check Also

हम चुप नहीं बैठेंगे… नारायणपुर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद विष्णुदेव साय का बड़ा बयान

नारायणपुर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में शनिवार (15 जून) को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के …