कौन हैं डॉ. गुरप्रीत कौर, जो बनने जा रही हैं भगवंत मान की दुल्हनिया? सामने आई पहली फोटो

चंडीगढ़,

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान शादी करने जा रहे हैं। चंडीगढ़ के मुख्यमंत्री आवास में उनकी शादी के आयोजन की तैयारियां की गई हैं। शादी सिख रीति-रिवाज से होगी क्योंकि भगवंत मान और उनकी होने वाली पत्नी गुरप्रीत कौर सिख हैं। डॉ. गुरप्रीत कौर हरियाणा के हिसार की रहने वाली हैं। वह भगवंत मान को पिछले डेढ़ साल से जानती हैं। कहा जा रहा है कि भगवंत मान के लिए दूसरी दुलहन उनकी मां और बहन ने पसंद की। उसके बाद भगवंत मान भी गुरप्रीत से मिले और शादी को हां हो गई। अब सादे समारोह में दोनों की शादी हो रही है।

भगवंत मान भले ही हाई प्रोफाइल हों लेकिन उनकी शादी लो प्रोफाइल हो रही है। भगवंत मान अपनी शादी का खर्च खुद उठा रहे हैं। उनकी शादी में सरकारी धन का प्रयोग नहीं हो रहा है। बताया जा रहा है कि डॉ. गुरप्रीत कौर बहुत ही साधारण परिवार से हैं। भगवंत मान के पंजाब सीएम बनने से पहले ही सब तय था लेकिन पंजाब विधानसभा चुनाव और भगवंत मान के सीएम बनने के चलते शादी टल गई थी।

भगवंत मान के घर पर कई बार दिखीं
डॉ. गुरप्रीत कौर को भगवंत मान के घर पर कई बार देखा गया। वह भगवंत मान के शपथ ग्रहण से लेकर उनके चुनाव के दौरान भी नजर आईं लेकिन कोई चर्चा न हो इसलिए वह हमेशा पीछे रहीं। बीते दिनों से वह कई बार सीएम के आवास आई और भगवंत मान के घर पर लगातार आती-जाती रहती हैं।

भगवंत मान ने मां और बहन ने की शॉपिंग
भगवंत मान और गुरप्रीत की शादी को इतना गुप्त रखा गया कि किसी को भनक नहीं लगी। बीते दिनों से लगातार भगवंत मान की मां और बहन को गुरप्रीत के साथ बाजार में शॉपिंग करते हुए देखा गया लेकिन किसी ने इतना ध्या नहीं दिया। किसी को भी दोनों की शादी की भनक नहीं लगने दी गई। गुरप्रीत की शादी के लिए लहंगा, सूट, गहने सब भगवंत की मां और बहन ने गुरप्रीत के साथ मिलकर ही खरीदा।

‘पंजाब के लिए छोड़ा था परिवार’
भगवंत मान 2011 में राजनीति में आए थे. वे 2014 में पहली बार आप के टिकट पर संगरूर से सांसद बने थे. तब उनकी पत्नी इंद्रजीत कौर भी उनके प्रचार में नजर आई थीं. हालांकि, दोनों का 2015 में तलाक हो गया था. भगवंत मान ने 2019 में भी संगरूर से चुनाव जीता. लेकिन 2022 में वे आप की ओर से पंजाब में सीएम उम्मीदवार बने. उनके नेतृत्व में पार्टी को प्रचंड बहुमत मिला. भगवंत मान ने 16 मार्च 2022 के पंजाब के सीएम के तौर पर शपथ ली. इस दौरान उनके बेटे और बेटी भी कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

भगवंत मान ने कहा था कि वे राजनीति की वजह से परिवार को समय नहीं दे पा रहे हैं. इसलिए उनकी पत्नी से उनसे दूरी बना ली. इतना ही नहीं तलाक के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट भी लिखा थी. इसमें उन्होंने कहा था कि उन्होंने पंजाब को अपने परिवार के ऊपर चुना. राजनीति के लिए वे पत्नी से अलग हो रहे हैं.

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …