बांदा: 24 साल चला मर्डर केस, जवान से बुजुर्ग हो गए आरोपी… अब कोर्ट ने दिया ये फैसला

बांदा,

उत्तर प्रदेश के बांदा में खेत में चना उखाड़ने के विवाद में एक युवक की हत्या कर दी गई थी. यह मामला कोर्ट में 24 साल तक चला. अब अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है. हैरानी की बात यह है कि इस दौरान आरोपी जवान से बुजुर्ग हो गए और केस लड़ रहे वकील की भी मौत हो गई.

यह हैरान कर देने वाला मामला गिरवां थाना क्षेत्र के मनोहर पुरवा गांव का है. खेत से चना के पौधे उखाड़ने की रंजिश में 26 अप्रैल 1998 की रात एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इसको लेकर परिजनों ने पुलिस में केस दर्ज कराया. जांच के दौरान पुलिस ने चार लोगों को आरोपी बनाकर कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की. अदालत के ताजा फैसले के बाद तीन आरोपियों को जमानत मिल गई और एक आरोपी को गुरुवार शाम तक रिहाई मिलने की उम्मीद है. बचाव पक्ष के वकील की भी केस लड़ने के दौरान 2016 में मौत हो गई.

सरकारी वकील जावित्री विश्वकर्मा ने बताया कि गिरवां थाना क्षेत्र में मृतक और आरोपियों में चने के पौधे तोड़ने को लेकर मारपीट हुई थी. इस संबंध में एफआईआर दर्ज की गई. मृतक के परिजनों का कहना है कि खलिहान में मृतक और उनका नाती लेटे हुए थे और उसका बेटा बाहर से आकर भी वहीं लेट गया. इस दौरान बारिश होने लगी. जब बेटे की आंख खुली तो उसने देखा कि पिताजी की मौत हो गई. उन्हें गोली लगी थी. मृतक के परिजनों ने केस दर्ज करवाया था.

पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को आरोपी बनाया था. गवाह और सबूत पेश न होने पर कोर्ट ने करीब 24 साल बाद फैसला सुनाते हुए सभी आरोपियों को बरी कर दिया. अदालत में सुनवाई के दौरान वकील की मौत हो गई, बाद में उनके बेटे मुकदमे की पैरवी करने लगे.

About bheldn

Check Also

जहां अफसर मतदान में देरी करते रहे, वहीं बीजेपी के लिए काम करता रहा चुनाव आयोग, उद्धव ठाकरे ने लगाए गंभीर आरोप

मुंबई शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सोमवार को आरोप लगाया कि मुंबई में …