मैंने काली का जश्न मनाया, ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती… महुआ मोइत्रा का बयान

कोलकाता :

टीएमसी की सांसद महुआ मोइत्रा के देवी पर बयान के बाद विवाद बढ़ता जा रहा है। यूपी, कोलकाता और भोपाल समेत कई इलाकों में महुआ मोइत्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। उन पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है। वहीं चारों तरफ से विवादों में घिरी महुआ ने कहा है कि वह किसी से नहीं डरतीं। उन्होंने यहां तक कहा कि वह ऐसे भारत में नहीं रहना चाहतीं जहां बोलने की आजादी नहीं है। महुआ की पार्टी टीएमसी उनके बयान से पहले ही किनारा कर चुकी है और अब बीजेपी ने भी उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रही है।

बीजेपी महुआ मोइत्रा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लगातार धरना-प्रदर्शन कर रही है। बीजेपी ने कहा कि अगर महुआ पर 10 दिनों में कार्रवाई नहीं की गई तो वह कोर्ट का रुख करेगी। महुआ ने बुधवार को ट्वीटकर कहा कि मैं न आपके (BJP के) गुंडों से डरती हूं, न ही पुलिस से। उन्होंने ट्विटर पर TMC को अनफॉलो कर दिया।

‘बीजेपी का नुपुर शर्मा से ध्यान हटाने का गेमप्लान’
महुआ ने कहा, ‘मैं बीजेपी को चुनौती देती हूं कि मुझे गलत साबित करे। बंगाल में जहां भी वे मामला दर्ज करते हैं, वहां 5 किमी के भीतर एक काली मंदिर होगा जहां देवी की पूजा की जाती है।’ उन्होंने यहां तक कहा कि पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा की टिप्पणी पर विवाद से ध्यान हटाने के लिए बीजेपी का यह एक गेमप्लान था। महुआ ने कहा कि अंतर यह था कि ‘नूपुर शर्मा ने पैगंबर को बदनाम किया। मैंने देवी काली को मनाया’।

‘ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती’
महुआ ने विशेष साक्षात्कार में एनडीटीवी से कहा, ‘मैं ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती जहां मुझे अपने धर्म को लेकर बोलने तक की आजादी ना हो।’ उन्होंने कहा ऐसे भारत में वह नहीं रहना चाहतीं जहां उन्हें हाथी को कमरे में रखने को कहा जाए। मतलब हाथी को कमरे में नहीं रखा जा सकता है। यह असंभव है।

‘पोस्टर या फिल्म का नहीं किया समर्थन’
टीएमसी सांसद ने ट्वीट किया, ‘आप सभी संघियों के लिए- झूठ बोलने से आप अच्छे हिंदू नहीं बन जाएंगे। मैंने कभी भी किसी फिल्म या पोस्ट का समर्थन नहीं किया और न ही मैंने कभी धूम्रपान शब्द का जिक्र किया। आपके लिए सुझाव है कि आप तारापीठ में जाकर देखें कि मां काली को भोग में क्या खाना और पीने के लिए क्या क्या चढ़ाया जाता है।’

मध्य प्रदेश और असम का किया जिक्र
मध्य प्रदेश के भोपाल में एफआईआर दर्ज की गई। महुआ ने कहा कि सीएम शिवराज चौहान से कहती हूं कि 100 किलोमीटर दूर काल भैरव है जहां शराब चढ़ाई जाती है। सरकार से कहती हूं कि जबलपुर हाई कोर्ट में शपथपत्र दें कि वहां शराब नहीं चढ़ाई जाती है। असम की बीजेपी सरकार को चुनौती देती हूं कि गुवाहाटी के कामाख्या मंदिर में मांस नहीं चढ़ाया जाता यह हाई कोर्ट में शपथपत्र दें मैं अपने शब्द वापस ले लूंगी। त्रिपुरा हाई कोर्ट ने पशुओं की बलि पर रोक लगाई है क्यों नहीं रोका गया?

‘मैं काली की करती हूं पूजा’
टीएमसी सांसद ने कहा, ‘मैं हिंदू हूं, काली की पूजा करती हूं। मैंने कोई गलत नहीं कहा। मैं बस बीजेपी से कहती हूं कि यह शपथपत्र दें की मैंने जो कहा है उस तरह से काली की पूजा नहीं होती, मैं अपने शब्द वापस ले लूंगी।’

About bheldn

Check Also

यूपी : 600 रुपए के लिए बेरहम बाप ने रेता बेटी का गला, मूक दर्शक बन देखती रही मां

शाहजहांपुर, यूपी के शाहजहांपुर में कत्ल की एक हैरतअंगेज वारदात सामने आई है. यहां महज …