जॉनसन के इस्तीफे के बाद कौन बनेगा ब्रिटेन का नया प्रधानमंत्री? भारत और पाक के बीच मुकाबला

लंदन

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के इस्तीफे के बाद नए नेता की तलाश शुरू हो चुकी है। सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी जल्द ही नए नेता का ऐलान कर सकती है, जो ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री बनेगा। खुद बोरिस जॉनसन ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए कहा कि वह नए नेता का चुनाव होने तक अपने पद पर बने रहेंगे। उन्होंने वादा किया कि पार्टी से चुनकर आए नए नेता को वह पूरी तरह समर्थन देंगे। हालांकि, नेता चुने जाने के बाद भी नए प्रधानमंत्री के सामने अपनी ही पार्टी के सांसदों का विश्वास जीतने की चुनौती होगी। ऐसे में ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री के संभावित दावेदारों की चर्चा भी शुरू हो गई है। इस लिस्ट में कंजर्वेटिव पार्टी के कई नेता शामिल हैं, जिनमें कुछ मंत्री और सांसद भी हैं। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री पद के लिए सबसे कड़ा मुकाबला भारतीय मूल के ऋषि सुनक और पाकिस्तानी मूल के साजिद जाविद के बीच है।

ऋषि सुनक- पूर्व वित्त मंत्री
ब्रिटेन के पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री की दौड़ में सबसे आगे हैं। भारतीय मूल के ऋषि सुनक बोरिस जॉनसन के मंत्रिमंडल में बतौर वित्त मंत्री शामिल थे, लेकिन उन्होंने एक नेता के सेक्स स्कैंडल में फंसने के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। ऋषि सुनक रिचमंड के उत्तरी यॉर्कशायर निर्वाचन क्षेत्र से 2015 में पहली बार सांसद बने थे। उन्होंने पांच साल से भी कम समय बाद 2020 में वित्तमंत्री की कुर्सी हासिल कर ली। हालांकि, अपनी पत्नी के टैक्स मामलों पर विवाद और लॉकडाउन नियमों के उल्लंघन के लिए जुर्माना लगाने से ऋषि सुनक की प्रतिष्ठा को ठेस भी पहुंची।

लिज ट्रूस- विदेश मंत्री
ब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रूस प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवारों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं। उन्हें पीएम बोरिस जॉनसन का सबसे करीबी और प्रबल समर्थक नेता माना जाता है। वो पहली बार 2010 में दक्षिण पश्चिम नॉरफ़ॉक के सांसद के रूप में चुनी गईं। लिज ट्रूस कंजर्वेटिव पार्टी के नेताओं के बीच काफी लोकप्रिय भी हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय व्यापार सचिव के रूप में ब्रेक्जिट के बाद के व्यापार समझौतों पर बातचीत सहित ब्रिटिश कैबिनेट में कई पदों को संभाला है। लिस ट्रूस ब्रिटेन के इतिहास में विदेश कार्यालय का नेतृत्व करने वाली केवल दूसरी महिला हैं।

साजिद जाविद- पूर्व स्वास्थ्य मंत्री
पाकिस्तानी मूल के कंजर्वेटिव नेता और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद भी ब्रिटेन के पीएम पद के संभावित उम्मीदवार हैं। उन्होंने पीएम बोरिस जॉनसन के फैसले के विरोध में ऋषि सुनक के साथ ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। साजिद जाविद 2010 में ब्रॉम्सग्रोव से पहली बार सांसद चुने गए थे। पाकिस्तानी अप्रवासी परिवार में पैदा हुए साजिद जाविद ने 2019 में प्रधानमंत्री पद के लिए बोरिस जॉनसन का प्रबल समर्थन किया था। इसके लिए उन्हें चांसलर की भूमिका देकर पुरस्कृत भी किया गया, लेकिन उन्होंने छह महीने बाद पद छोड़ दिया। जिसके बाद उन्हें 2021 में ब्रिटेन का स्वास्थ्य मंत्री बनाया गया।

माइकल गोव- पूर्व लेवलिंग अप सेक्रेटरी
माइकल गोव को पीएम बोरिस जॉनसन का प्रबल विरोधी नेता माना जाता है। उन्होंने कैबिनेट में रहते हुए पीएम जॉनसन के इस्तीफे की मांग की थी। जिसके बाद, जॉनसन ने उन्हें पद से बर्खास्त कर दिया था। 2005 में सरे हीथ से पहली बार सांसद चुने जाने के बाद गोव ने डेविड कैमरन, थेरेसा मे और बोरिस जॉनसन की सरकार में विभिन्न कैबिनेट पदों पर कार्य किया है। उन्होंने ब्रिटेन के परीक्षा और पाठ्यक्रम में बड़े बदलाव लाकर एक क्रांतिकारी शिक्षा सचिव के रूप में अपना नाम बनाया। गोव ने थेरेसा मे के ब्रेक्सिट सौदे की जमकर वकालत की थी।

नादिम जहावी- वर्तमान वित्त मंत्री
बोरिस जॉनसन ने ऋषि सुनक के इस्तीफे के बाद नादिम जहावी को नया वित्त मंत्री नियुक्त किया था। नादिम जहावी इराक मूल के ब्रिटिश नेता हैं। इराक में सद्दाम हुसैन के सत्ता में आने पर जाहावी और उनके परिवार को देश छोड़कर भागने के लिए मजबूर होना पड़ा था। टेलेटुबीज मर्चेंडाइज बेचने वाली फर्म और यूगोव की स्थापना के बाद, वह 2010 में स्ट्रैटफोर्ड-ऑन-एवन के सांसद बने। नादिम ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान उन्होंने वैक्सीनेशन को लेकर जबरदस्त काम किया। इसी कारण उन्हें कैबिनेट में शिक्षा मंत्री के रूप में प्रोन्नत किया गया।

About bheldn

Check Also

बाघ को जंजीर बांध टहलाती दिखी हसीना, कपड़े देखकर लोग बोले- इससे लड़कर आई हो

नई दिल्ली, आम तौर पर लोग कुत्ते- बिल्ली को घर में पालते हैं लेकिन इस …