अमरनाथ गुफा के करीब बादल फटा, 13 श्रद्धालुओं की मौत, पीएम ने जताया दुख

जम्मू-कश्मीर

शुक्रवार की शाम बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए आए यात्रियों के लिए अच्छी नहीं रही। अमरनाथ गुफा के पास अचानक बादल फटने से वहां की तस्वीर पूरी तरह से बदल गई। आसमान से बरसी इस आफत में अब तक 13 लोगों की जान जा चुकी है। बताया जा रहा है कि यह हादसा शाम साढ़े 5 बजे के बीच हुआ है। दूसरी ओर राहत एवं बचाव कार्य के लिए NDRF और SDRF की टीमें मोर्चे पर तैनात कर दी गई हैं। इस हादसे पर पीएम मोदी से लेकर,गृह मंत्री अमित शाह और जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा ने दुख जताया है। हादसा से जुड़ी जानकारी के लिए इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिए गए हैं। यहां जानिए हादसे से जुड़ी हर अपडेट

पीएम ने दिया हरसंभव मदद का भरोसा
प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने अमरनाथ हादसे पर दुख जताते हुए कहा कि श्री अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने की खबर से जान गंवाने वाले लोगों के परिवार व वालों के प्रति मेरी संवेदना। मैंने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से बातचीत की और स्थिति का जायजा लिया। सभी तरह के राहत एवं बचाव कार्य जारी हैं। हादसे से प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद दी जाएगी।

गृह मंत्री अमित शाह ने भी जताया दुख
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी अमरनाथ में हुए हादसे पर दुख जताते हुए ट्वीट किया। अमित शाह ने कहा कि बाबा अमरनाथ जी की गुफा के पास बादल फटने से आयी फ्लैश फ्लड के संबंध में मैंने LG श्री मनोज सिन्हा जी से बात कर स्थिति की जानकारी ली है। NDRF, CRPF, BSF और स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगे हैं। लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है। सभी श्रद्धालुओं की कुशलता की कामना करता हूँ।

अमरनाथ में एनडीआरएफ ने कैसे संभाला है मोर्चा डीजी से जानिए
DG NDRF अतुल करवाल ने हादसे की जानकारी देते हुए बताया कि हमारी 1 टीम गुफा के पास तैनात रहती है, वो टीम तत्काल बचाव कार्य में जुट गई थी। 2 टीम पास में है जिसमें से 1 वहां पहुंच कर काम पर लग गई है,1 टीम शामिल होने वाली है।वहां मौजूद हमारे लोगों के मुताबिक 10 लोगों के मौत की खबर है और 3 को वहां से जीवित निकाला गया है। वहां पर और भी कई संस्थाओं की टीमें जैसे ITBP,आर्मी, लोकल पुलिस मौजूद है। वहां ढलान काफी ज्यादा है इसलिए पानी काफी तेजी से आता है। बहाव के चलते टेंटों को नुकसान पहुंचा है। आशा है कि बहाव और कम हो जाएगा लेकिन हम हर स्थिति के लिए तैयार हैं।

मनोज सिन्हा ने पीएम और गृह मंत्री को दी जानकारी
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बताया कि NDRF, SDRF, BDF, सेना, जेकेपी और श्राइन बोर्ड प्रशासन द्वारा बचाव अभियान जारी है। मैंने PM और HM से बात की और उन्हें जानकारी दी। उन्होंने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। तीर्थयात्रियों को सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

आर्मी के हेलीकॉप्टर भी एक्शन में
अमरनाथ श्राइन बोर्ड, श्रीनगर के CEO नीतीश्वर कुमार ने कहा कि ये दुखःद घटना है। वहां बचाव कार्य जारी है। कई टीमें राहत कार्य में लगी हुई है। हमारा फोकस यात्रियों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने का है। आर्मी के हेलीकॉप्टर भी एक्शन में हैं। सर्च ऑपरेशन जारी है। हेल्पलाइन नंबर एक्टिवेटेड है।

About bheldn

Check Also

उत्तराखंड में बड़ा हादसा… 23 यात्रियों को लेकर जा रहा वाहन अलकनंदा नदी में गिरा, 12 की मौत

रूद्रप्रयाग, उत्तराखंड में रूद्रप्रयाग के पास रैंतोली में बद्रीनाथ हाइवे पर यात्रियों को लेकर जा …