एलेना रिबाकिना ने जबूर को हराकर रचा इतिहास, बनीं विंबलडन जीतने वाली पहली कजाकिस्तानी खिलाड़ी

विंबलडन

एलेना रिबाकिना ने शनिवार को विंबलडन फाइनल में खिताबी मुकाबले में ओन्स जबूर को हराकर पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीता। एलेना रिबाकिना ने पहले सेट हारने के बाद शानदार वापसी की। उन्होंने ट्यूनीशिया की ओन्स जबूर को 3-6, 6-2, 6-2 से हराया। इसके साथ ही वह ग्रैंड स्लैम एकल चैंपियनशिप जीतने वाले कजाकिस्तान की पहली टेनिस खिलाड़ी बन गईं। 23 वर्षीय रिबाकिना का जन्म रूस के मॉस्को में हुआ था और वह 2018 से कजाकिस्तान का प्रतिनिधित्व कर रही है।

विंबलडन के दौरान ऑल इंग्लैंड क्लब ने यूक्रेन में युद्ध के कारण रूस या बेलारूस का प्रतिनिधित्व करने वाले सभी खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में प्रवेश करने से रोक दिया था। 1962 के बाद ऑल इंग्लैंड क्लब में दो खिलाड़ियों के बीच यह पहला महिला खिताबी मैच था, जो पहली बार फाइनल खेल रही थीं। रिबाकिना इससे पहले किसी ग्रैंड स्लैम के सिंगल्स में सेमीफाइनल तक भी नहीं पहुंच थीं। वहीं जबूर

रिबाकिना की अभी रैंकिंग में दुनिया की नंबर-23 खिलाड़ी हैं। 1975 में डब्ल्यूटीए रैंकिंग शुरू होने के बाद से रिबाकिना से कम रैंक वाली सिर्फ एक महिला ने विंबलडन जीता था। वह थीं वीनस विलियम्स। उन्होंने 2007 में नंबर 31 पर रहते हुए खिताब अपने नाम किया था। हालांकि, वह पहले नंबर वन रह चुकी थीं। इससे पहले वह 2019 में बुकारेस्ट और 2020 में होबार्ट ओपन का खिताब जीत चुकी हैं।

About bheldn

Check Also

कभी नागिन डांस तो कभी कटा सिर… भारत के खिलाफ बांग्लादेशी कब-कब बदतमीजी पर उतरे

टी20 वर्ल्ड कप 2024 के अपने दूसरे सुपर 8 मुकाबले में भारतीय टीम बांग्लादेश से …