बढ़ती इस्लामिक कट्टरता पर आरएसएस ने मुस्लिम समुदाय से की बड़ी अपील

नई दिल्ली

राजस्थान के प्रांत प्रचारकों की तीन दिवसीय मीटिंग में आरएसएस ने उदयपुर और अमरावती हत्याकांड की पृष्ठभूमिक में ‘बढ़ती इस्लामी कट्टरता’ पर मंथन किया। बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत, सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले समेत तमाम शीर्ष नेताओं ने शिरकत की। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने शनिवार को कहा कि हिंदू समाज ने उदयपुर जैसी घटनाओं पर शांतिपूर्ण और संवैधानिक तरीके से प्रतिक्रिया दी। उसने अपील की कि मुस्लिम समुदाय को भी उदयपुर जैसी घटनाओं का दमदार तरीके से विरोध करना चाहिए।

राजस्थान के झुंझुनू में प्रांत प्रचारकों की तीन दिवसीय बैठक पूरी होने के बाद संघ प्रवक्ता सुनील आंबोडकर ने कहा, ‘यह सभी के लिए जरूरी है कि इसका एकसाथ मिलकर विरोध किया जाए।’ उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी का इस्तेमाल करते वक्त जनभावनाओं का खयाल रखा जाना चाहिए।

संघ प्रवक्ता ने उदयपुर के बर्बर हत्याकांड को लेकर कहा, ‘हमारे देश में लोकतंत्र है। हमारे पास संवैधानिक लोकतांत्रिक अधिकार हैं। अगर किसी को कुछ पसंद नहीं आता है तो उसके विरोध का एक लोकतांत्रिक तरीका होता है। लेकिन इस तरह की घटनाएं न तो समाज के हित में हैं और न ही देश के हित में।’

मुस्लिम समाज से उदयपुर जैसी बर्बरता के खिलाफ खड़े होने की अपील करते हुए आंबेडकर ने कहा, ‘किसी भी सभ्य समाज में ऐसी घटनाओं की निंदा ही होगी। हिंदू समाज शांतिपूर्ण और संवैधानिक तरीके से प्रतिक्रिया दे रहा है। मुस्लिम समाज से भी उम्मीद की जाती है कि वह इन घटनाओं का विरोध करे। कुछ बुद्धिजीवियों ने इसका विरोध किया है लेकिन मुस्लिम समाज को भी आगे आना चाहिए और इसका पूरी ताकत से विरोध करना चाहिए।’

पिछले महीने राजस्थान के उदयपुर में एक दर्जी की बर्बर हत्या की गई थी। दर्जी ने सोशल मीडिया पर बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा का समर्थन किया था। हत्यारों ने वारदात और उसके बाद उसकी जिम्मेदारी लेते हुए वीडियो वायरल किया था। हत्यारों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक को धमकी दिया था। पिछले महीने ही महाराष्ट्र के अमरावती में एक केमिस्ट की भी नूपुर शर्मा का समर्थन करने की वजह से हत्या हुई थी।झुंझुनू में संघ के प्रांत प्रचारकों की 3 दिवसीय बैठक गुरुवार को शुरू हुई थी जो शनिवार को संपन्न हुई। कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद ये प्रांत प्रचारकों की पहली फीजिकल मीटिंग थी।

About bheldn

Check Also

हम तो तुलसीदास जैसे गंवार… राधारानी के बाद पंडित प्रदीप मिश्रा का नया विवाद, संतों ने कहा- शंकर का नाम लेकर जहर उगल रहे

भोपाल: कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा अब नए विवाद में घिर गए हैं। राधारानी का विवाद …