पैगंबर विवाद की आड़ में चल रहा दुश्मनी निकालने का खेल! राजस्थान की यह कहानी हिला देगी

भीलवाड़ा

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद बनी स्थिति से जुड़ा हैरान कर देना वाला खुलासा हुआ है। मामला भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर क्षेत्र का है। यहां दो दोस्तों ने एक युवक से दुश्मनी निकालने के लिए हैरान कर देने वाला पैंतरा अपनाया। यहां जहाजपुर थाना पुलिस ने एक युवक से दुश्मनी निकालने के लिए उसके दो दोस्तों की ओर से रची साजिश का पर्दाफाश किया है। साथ ही उसे सांप्रदायिक पोस्ट से फंसा कर जेल भिजवाने वाले दोनों युवकों को गिरफ्तार किया है। दोनों युवकों की साजिश के शिकार हुए युवक के जेल से छूट कर आने के बाद इस साजिश का पता चला।

स्क्रीनशॉट को एडिट कर आपत्तिजनक टिप्पणी लिख कर की वायरल
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंचल मिश्रा ने बताया कि जहाजपुर पुलिस ने गोल हताई मोहल्ले के तोफिक उर्फ गुड्डू उर्फ लाला पठान और देशवाली मोहल्ले के दानिश पठान को गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों ने जहाजपुर के ही रहने वाले विशाल खटीक के सोशल मीडिया अकाउंट का स्क्रीनशॉट लेकर उसे एडिट कर आपत्तिजनक टिप्पणी लिख कर उसे वायरल किया था। दोनों युवक पहले विशाल खटीक के दोस्त थे। पता चला है कि दोनों उससे पुरानी दुश्मनी निकाल कर उसे सबक सिखाना चाहते थे। चूंकि उदयपुर वाली घटना के बाद लगातार सांप्रदायिक मामलों को लेकर पुलिस की सख्ती चल रही है, लिहाजा शातिर युवकों ने इसी बात को फायदा उठाते हुए दोस्त को फंसाने का प्लान बना डाला । मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित युवक विशाल की एडिटेड पोस्ट वायरल होने बाद अंजुमन कमेटी जहाजपुर के सदर अब्दुल सत्तार ने उनके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाया था।

इसके बाद पुलिस ने 20 जून की रात को विशाल को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद कोर्ट के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया था ।7 जुलाई को जेल से छूटने के बाद विशाल ने साजिश रचने वाले दोनों दोस्तों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। इसके बाद उसके खिलाफ रची गई साजिश का पर्दाफाश हुआ।

वीडियो वायरल को लगाया मोबाइल पर, हुई गिरफ्तारी
इसी तरह एक अन्य मामले में बड़लियास थाना पुलिस ने उदयपुर में कन्हैया लाल टेलर की गई तालिबानी हत्या के वायरल वीडियो का स्टेटस लगाने पर एक युवक को गिरफ्तार किया। बड़लियास थाना प्रभारी शिवचरण ने बताया कि मुझे सूचना मिली कि बनकाखेड़ा में एक व्यक्ति ने उदयपुर की कन्हैया लाल की हत्या को लेकर मुलजिम ने जो वीडियो वायरल किया था, उसने अपने मोबाइल पर स्टेटस लगा रखा है ।

इस सूचना पर मैंने वहां जाकर चांद मोहम्मद मंसूरी को थाने पर लेकर आया । उसका मोबाइल चेक किया तो उस पर मुलजिम की ओर से वायरल किए गए हत्या के वीडियो का स्टेटस मिला। पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर उसका मोबाइल जप्त किया । गिरफ्तार चांद मोहम्मद को तहसीलदार के समक्ष पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

About bheldn

Check Also

‘जिन्होंने राम की भक्ति का संकल्प लिया आज वो सत्ता में हैं…’, बयान पर बवाल के बाद RSS नेता इंद्रेश कुमार ने मारी पलटी

नई दिल्ली, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने अपने एक बयान को लेकर …