अमरनाथ त्रासदी के बाद सामने आई बड़ी लापरवाही, महिला के शव बदलने की घटना ने मचाया हड़कंप

श्रीगंगानगर

अमरनाथ यात्रा के दौरान बादल फटने से त्रासदी मामले में एक बड़ी गफलत सामने आयी है। इस त्रासदी में श्रीगंगानगर के एक महिला सहित तीन लोगों की मौत हो गयी थी, जिनके शवों को श्रीगंगानगर से एयरलिफ्ट के जरिये दिल्ली भेजा गया और उसके बाद शवों दो श्रीगंगानगर लाना था लेकिन इन तीनो शवों में से महिला का शव दूसरी महिला के शव से बदल गया, जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया।

आज सुबह श्रीगंगानगर से परिजन शव लेने के लिए दिल्ली पहुंचे हुए थे। जब उन्हें शव हैंडओवर किये जा रहे थे, तो पता चला की महिला का शव सुनीता वधवा का नहीं, बल्कि किसी और महिला का है। जांच करने पर सामने आया कि जिस महिला का शव इन तीन शवों के साथ दिल्ली आया, उसका नाम भी सुनीता है और वह महाराष्ट्र कि निवासी थी।

शव को एयरलिफ्ट कर दिल्ली भेजा जाएगा
इसके बाद श्रीगंगानगर विधायक राजकुमार गौड़, जिला कलक्टर रुकमणी रियार, एडीएम हरीतिमा ने राज्य सरकार और श्रीनगर प्रशासन से सम्पर्क किया। जिला कलक्टर रुक्मणि रियार ने बताया की श्रीनगर प्रशासन को मृतक महिला के परिजनों के नंबर उपलब्ध करवाए हैं । अब वीडियो काल के जरिये महिला के शव की पहचान करवाकर शव को एयरलिफ्ट के जरिये दिल्ली भेजा जायेगा।

गौरतलब है कि रिटायर्ड सीआई सुशील खत्री और उनके समधी समधन मोहनलाल वधवा और सुनीता वधवा की इस त्रासदी में मौत हो गयी थी। सुशील खत्री का शव आज श्रीगंगानगर पहुंच गया है। अब सुनीता वधवा का शव श्रीनगर से आने के बाद मोहनलाल वधवा के शव के साथ श्रीगंगानगर भेजा जायेगा।

About bheldn

Check Also

कबाड़ खरीदने वाले भंगार वाले बाबा ने किया सुसाइड, युवाओं के चिढ़ाने से थे आहत

जोधपुर , राजस्थान के फलोदी जिले के एक वृद्ध ने पेड़ पर रस्सी का फंदा …