पाकिस्तान के बड़बोले नेता शेख राशिद की बेशर्मी तो देखें, मंच पर ही साथी को करने लगे किस”

इस्लामाबाद

पाकिस्तान के बड़बोले नेता शेख रशीद अहमद ने एक बार फिर बेशर्मी की हद पार कर दी है। उन्होंने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की रैली में मंच पर ही सरेआम इमरान खान के राजनीतिक सलाहकार शहबाज गिल को जबरन किस कर दिया। इस दौरान शहबाज गिल खुद को बचाते दिखाई दिए लेकिन शेख रशीद ने उनके सिर को जबरन अपने हाथ में पकड़े रखा। इस घटना के दौरान मंच पर उनके चंद कुर्सी दूर इमरान खान भी बैठे हुए थे। लेकिन, उन्होंने इस घटनाक्रम पर कोई रिएक्शन नहीं दिया। शेख रशीद इमरान खान सरकार में पाकिस्तान के आतंरिक मंत्री रह चुके हैं। उन्होंने एक बार तो पाव-पाव भर के परमाणु बम से भारत पर हमला करने की बचकानी धमकी भी दी थी।

काहूटा की रैली के दौरान शेख रशीद ने किया किस
रिपोर्ट के अनुसार, पीटीआई की यह रैली पाकिस्तान के पंजाब सूबे के काहूटा में आयोजित की गई थी। इस रैली में इमरान खान समेत पीटीआई के सभी बड़े नेता शामिल थे। मंच पर नेताओं की भाषणबाजी के दौरान शहबाज गिल पीछे से शेख रशीद से मिलने आए और उनकी कान में कुछ कहा। इस दौरान शेख रशीद ने अपना हाथ पीछे कर शहबाज गिल के सिर को पकड़ लिया और किस की बरसात कर दी। उनकी यह हरकत देख बगल में बैठे पीटीआई के दूसरे नेता अवाक रह गए, लेकिन शेख रशीद बिलकुल नहीं रुके। हालांकि, इस हरकत को देख शहबाज गिल खुद शर्मा गए और अपना सिर पीछे खींचने लगे। इस घटना का वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है।

कौन हैं शेख रशीद अहमद
शेख रशीद अहमद इमरान खान की पार्टी पीटीआई के वरिष्ठ नेता हैं। उन्होंने 2020 से 2022 तक पाकिस्तान के 38वें गृह मंत्री के रूप में कार्य किया। वो इमरान सरकार में गृह मंत्री बनने से पहले रेल मंत्री थे। शेख रशीद ने अवामी मुस्लिम लीग की स्थापना की थी, बाद में जिसका विलय पीटीआई में करा दिया गया। शेख रशीदअहमद का जन्म 6 नवंबर, 1950 को रावलपिंडी के बाबरा बाजार में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पॉलिटेक्निक कॉलेज से प्राप्त की और गवर्नमेंट गॉर्डन कॉलेज से ग्रेजुएशन किया।

पाव-पाव भर के परमाणु बम से हमले की दी थी धमकी
शेख रशीद अहमद ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के भारत के फैसले के विरोध में परमाणु हमले की धणकी दी थी। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान के पास ‘स्मार्ट बम’ के अलावा पाव-पाव भर के परमाणु बम भी हैं। इससे पहले उन्होंने भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान की रिहाई का भी विरोध किया था। उन्होंने पाकिस्तानी संसद में माना था कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंप पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा क्षेत्र में मौजूद हैं।

About bheldn

Check Also

अंतरिक्ष में फंसीं सुनीता विलियम्स! सिर्फ 27 दिन का फ्यूल बाकी… जानें- कहां हुई परेशानी

नई दिल्ली, भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स क्या अंतरिक्ष में फंस गई हैं? …