महंगा हो गया बैंक ऑफ बड़ौदा का लोन, अब देनी होगी बढ़ी हुई ईएमआई

नई दिल्ली

बैंक ऑफ बड़ौदा का कर्ज एक बार फिर महंगा हो गया है। इस सरकारी बैंक ने लोन के लिए सीमांत लागत पर आधारित रेट (MCLR) को 0.15 फीसदी तक बढ़ा दिया है। नई दरें मंगलवार से प्रभावी हो जाएंगी। बैंक ऑफ बड़ौदा ने सोमवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि बैंक ने 12 जुलाई, 2022 से एमसीएलआर में वृद्धि को मंजूरी दे दी है। बैंक के अनुसार, होम, ऑटो और पर्सनल लोन जैसे अधिकांश उपभोक्ता ऋणों के लिए एक साल की एमसीएलआर को बढ़ाकर 7.65 फीसदी कर दिया गया है। यह अभी 7.50 फीसदी है।

इन लोन्स पर भी बढ़ी रेट
अब बैंक ऑफ बड़ौदा के तीन और छह महीने की अवधि के लोन के लिए एमसीएलआर क्रमशः 7.35 फीसदी और 7.45 फीसदी होगी। इनमें 0.10 फीसदी की वृद्धि की गई है। वहीं, एक महीने और ओवरनाइट अवधि के एमसीएलआर में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यहां बता दें कि बैंक ऑफ बड़ौदा का रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 7.45 फीसदी है। नॉन स्टाफ मेंबर के होम लोन रेट 7.45 फीसदी से लेकर 8.80 फीसदी के बीच है। वहीं, स्टॉफ मेंबर्स के लिए होमलोन रेट 7.45 फीसदी है।

महंगी हो जाएगी ईएमआई
बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा एससीएलआर में बढ़ोतरी से अब लोन महंगे हो जाएंगे। इसके अलावा जिन ग्राहकों ने पहले से होम लोन लिया हुआ है, उनकी ईएमआई महंगी हो जाएगी। बता दें कि बैंक ऑफ बड़ौदा के कार लोन पर ब्याज दर इस समय 7.70 फीसदी से लेकर 10.95 फीसदी के बीच है।

कई बैंक बढ़ा चुके दरें
भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी करने के बाद से कई बैंक लोन्स पर ब्याज दरों को बढ़ा चुके हैं। गौरतलब है कि केनरा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक सहित कई दूसरे बैंक एमसीएलआर में इजाफा कर चुके हैं। बीएसई पर सोमवार को बैंक ऑफ बड़ौदा का शेयर 3.74 फीसदी की बढ़त के साथ 109.55 रुपये पर बंद हुआ।

About bheldn

Check Also

कॉलेज से निकलने के बाद भी दो में से एक छात्र को नहीं मिल पाती नौकरी: Economic Survey

नई दिल्ली , बेरोजगारी भारत की बड़ी समस्याओं में से एक है. बड़ी विडंबना की …