बीमारी का बहाना बना छुट्टी पर जाने वालों की खैर नहीं, जानिए इंडिगो क्या ले रहा एक्शन

नई दिल्ली

इंडिगो ने कम वेतन को लेकर एक साथ छुट्टी पर जाने वाले अपने तकनीकी कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है। सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। बड़ी संख्या में इंडिगो के तकनीकी कर्मचारी पिछले पांच दिन के दौरान छुट्टी पर चले गए थे। ये कर्मचारी कम वेतन के विरोध में स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर छुट्टी पर गए थे। सूत्रों ने बताया कि कंपनी ने छुट्टी लेने वाले तकनीकी कर्मचारियों को आवश्यक चिकित्सा दस्तावेजों के साथ एयरलाइन के डॉक्टर को दिखाने के लिए कहा है। इससे यह पता लगाया जा सके कि क्या वे वास्तव में बीमार थे या नहीं।

ई-मेल भेजकर दिए निर्देश
इंडिगो ने 10 जुलाई को छुट्टी लेने वाले एक कर्मचारी को भेजे ई-मेल में कहा कि बिना पूर्व जानकारी के इस तरह से छुट्टी लेना एयरलाइन के संचालन को प्रभावित करता है। विमानन कंपनी ने कहा, ‘‘इसलिए… आपको अपनी चिकित्सा स्थिति को साबित करने के लिए आवश्यक चिकित्सा दस्तावेजों के साथ कंपनी के चिकित्सकों से तुरंत मिलने का निर्देश दिया जाता है।’’ इंडिगो ने इस मामले पर फिलहाल कोई बयान नहीं दिया है।

सोमवार को कहा था बढ़ेगी सैलरी
कंपनी के आतंरिक स्तर पर जारी ई-मेल से मिली जानकारी के अनुसार, इंडिगो ने सोमवार को कहा था कि वह तकनीकी कर्मचारियों के वेतन को ‘तर्कसंगत’ बनाएगी। कंपनी ने कहा था कि वह कोविड-19 महामारी के कारण तनख्वाह में हुई ‘कटौती’ को समाप्त करेगी।

हाल ही में पायलट्स की बढ़ाई थी सैलरी
इंडिगो ने हाल ही में अपने पायलट्स की सैलरी में 8 फीसदी की बढ़ोतरी की है। एयरलाइन ने एयर ट्रैफिक में तेजी आने के चलते यह फैसला लिया है। एयरलाइन का यह फैसला 1 अगस्त 2022 से लागू हो जाएगा। इंडियो ने अपने पायलट्स की सैलरी में बढ़ोतरी के साथ ही उनके ओवरटाइम भत्तेको भी बहाल कर दिया है। इसके अलावा इंडिगो ने अपने कर्मचारियों को मेल कर बताया कि उनके लिए विदेशी मुद्रा कार्ड लॉन्च किया गया है। इस कार्ड के माध्यम से इंडिगो के कर्मचारियों को पार्टनर एयरलाइंस से यात्रा करने पर डिस्काउंट मिलेगा। एयरलाइन ने यह कार्ड अपने कर्मचारियों और क्षेत्रीय कर्मचारियों (ZED) के लिए लॉन्च किया है।

About bheldn

Check Also

गरीबी हटाने का एक और आइडिया… तीन-चौथाई भारतीय यही चाहते, G20 की बैठक में हो सकता है फैसला!

नई दिल्ली, G-20 के वित्त मंत्री अगले महीने दुनिया के बेहद अमीर यानी सुपर-रिच लोगों …