अल्लाह की मेहरबानी के बहाने, अनलिमिटेड परेशानी के ठिकाने बनाना चाहते हैं… सपा सांसद बर्क को नकवी का जवाब

नई दिल्ली

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी भी देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर नए सिरे से छिड़ी बहस में शामिल हो गए हैं। उन्होंने समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के बयान पर अपने ही अंदाज में तंज कसा। उन्होंने कहा कि कुछ लोग ‘अल्लाह की मेहरबानी के बहाने, अनलिमिटेड परेशानी के ठिकाने बनाना चाहते हैं’। उन्होंने कहा कि कहा जनसंख्या नियंत्रण किसी जाति या समुदाय के लिए नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक चुनौती है और सभी को मिल कर इसका समाधान निकालना होगा।

जाति-समुदाय नहीं देश की मुसीबत है जनसंख्या विस्फोट: नकवी
नकवी ने कहा, ‘जनसंख्या विस्फोट मजहब की नहीं, मुल्क की मुसीबत है। मजहब को सुरक्षा कवच बनाकर इस मुसीबत को और बढ़ाना ना देश के हित में है और ना ही समाज के हित में।’ उन्होंने कहा कि इस गंभीर समस्या से निपटने के लिए लगातार जागरूकता फैलानी होगी। उन्होंने कहा, ‘जनसंख्या नियंत्रण जाति और समुदाय के लिए नहीं बल्कि देश के लिए एक चुनौती है और हम सब को मिल कर इसके समाधान का रास्ता चुनना होगा। दुनिया के तमाम देशों द्वारा जनसंख्या नियंत्रण के प्रभावी उपायों के सकारात्मक परिणाम आए हैं। उन देशों के लोगों द्वारा जनसंख्या नियंत्रण में सरकारों और व्यवस्था को पूरा साथ दिया गया है।’

मजहब को कवच बनाकर समस्या नहीं बढ़ाएं: नकवी
जनसंख्या विस्फोट को मजहब से जोड़ने के सवाल पर नकवी ने कहा, ‘यह किसी मजहब की नहीं पूरे मुल्क की समस्या है। मजहब को कवच बनाकर इस समस्या को बढ़ाना न देशहित हित में है ना समाज हित में।’ हालांकि, वो जनसंख्या नियंत्रण कानून के सवाल पर अपनी स्पष्ट राय देने से बचते दिखे। उन्होंने कहा, ‘हम सभी को जनसंख्या विस्फोट के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता फैलानी होगी।’ पूर्व केंद्रीय मंत्री संयुक्त राष्ट्र संघ की उस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें अनुमान लगाया गया है कि वर्ष 2023 में भारत दुनिया की सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाएगा। नकवी ने कहा कि जनसंख्या विस्फोट को कोई भी देश या व्यवस्था ना तो नजरअंदाज कर सकती है और ना ही उसे बर्दाश्त कर सकती है।

योगी आदित्यनाथ के बयान से छिड़ी चर्चा
ध्यान रहे कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर कहा था कि जनसंख्या नियंत्रण के प्रयास सफलतापूर्वक हों, लेकिन यह भी ध्यान रखना होगा कि कहीं भी जनसांख्यकीय असंतुलन की स्थिति न पैदा होने पाए। उन्होंने कहा किे जिन देशों में जनसांख्यकीय असंतुलन होता है वहां चिंताएं बढ़ती हैं, क्योंकि इससे धार्मिक डेमोग्राफी पर विपरीत असर पड़ता है। इससे एक समय के बाद वहां अव्यवस्था, अराजकता जन्म लेने लगती है।

योगी के बयान पर बर्क का तंज
योगी के बयान पर सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा था कि औलाद पैदा करने का ताल्लुक इंसान से नहीं, अल्लाह से है। उन्होंने तंज में यह भी कहा कि शादियों पर ही प्रतिबंध लगा दिया जाए तब बच्चे पैदा ही नहीं होंगे। वहीं, केंद्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने योगी का समर्थन करते हुए जनसंख्या नियंत्रण के कठोर कानून लाने की जरूरत बताई।

About bheldn

Check Also

स्पीकर के लिए पक्ष-विपक्ष दोनों ने उतारे उम्मीदवार… तो कैसे चुना जाएगा लोकसभा अध्यक्ष, पहले नहीं हुआ ऐसा

नई दिल्ली, लोकसभा स्पीकर का चुनाव इस बार दिलचस्प हो सकता है. वो इसलिए क्योंकि …