एक बार चढ़ गए तो 12 किलोमीटर का चक्कर लगाना पड़ेगा, बहुत कन्फ्यूज कर रही सोहना एलिवेटेड रोड

गुड़गांव

राजीव चौक से घामडौज के बीच अगर आपको इस्लामपुर, सुभाष चौक, वाटिका चौक, बादशाहपुर, मारुति कुंज सहित रोड के दोनों ओर बनीं सोसायटियों, शॉपिंग मॉल व अन्य जगह जाना है तो गुड़गांव सोहना रोड पर सफर करने के दौरान कुछ बातों का ध्यान रखें। सोमवार से शुरू हुए एलिवेटेड रोड पर ताऊ देवी लाल स्टेडियम के सामने से एंट्री न करें, बल्कि यहां से सर्विस रोड का इस्तेमाल करें। अगर आप यहां से एलिवेटेड रोड पर एंट्री कर जाते हैं तो आपको 12 किलोमीटर बाद घामडोज टोल प्लाजा पर यू टर्न मिलेगा। वहां से सर्विस रोड के सहारे ही वापस आ सकेंगे।

गलती से एलिवेटेड रोड पर एंट्री कर रहे लोग
एलिवेटेड रोड के शुरू होने के बाद मंगलवार को भी कई बाइक व कार सवार लोग पर इस पर फंसे और एंट्री पॅाइंट से एग्जिट होने के प्रयास करते रहे। ऐसे में पुलिसकर्मियों व लोगों के बीच खूब कहासुनी भी हुई। एलिवेटेड रोड पर सफर करने के लिए राजीव चौक के समीप ताऊ देवी लाल स्टेडियम के सामने एंट्री पॉइंट दिया गया है। यहां साइड में सोहना व सुभाष चौक की ओर जाने के लिए संकेत बोर्ड लगा है, लेकिन यह लोगों को जल्दी दिखाई नहीं दे रहा है। ऐसे में लोग यहां गलती से एलिवेटेड रोड पर एंट्री कर जा रहे हैं और लोगों को घामड़ोज टोल प्लाजा से यू टर्न कर सर्विस रोड के सहारे वापस अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि इस एंट्री पॉइंट पर लोगों को जागरूकता संबंधी बड़ा बोर्ड लगाए जाने की जरूरत है।

पुलिसकर्मियों व लोगों के बीच कहासुनी
इस एलिवेटेड रोड पर कोई एग्जिट पॉइंट नहीं है। ऐसे में मंगलवार को सुभाष चौक से आगे व मारुति कुंज के समीप बने एंट्री पॉइंट से लोग अपने वाहनों को एग्जिट कराने का प्रयास करते नजर आए। यहां पुलिसकर्मियों ने किसी वाहन को एग्जिट नहीं होने दिया। ऐसे में लोग अपनी परेशानी बताते नजर आए। वहीं पुलिसकर्मी नियम व जाम लगने की बात लोगों से कर उन्हें आगे जाने की सलाह देते रहे। लोगों की पुलिस कर्मियों से कहासुनी भी हुई। काफी संख्या में वाहनों के इकट्ठा होने पर एंट्री पॉइंट पर जाम लगने जैसी स्थिति बनी।

पेट्रोल हुआ खत्म, खींचनी पड़ी बाइक
रोड पर 12 किलोमीटर से पहले एग्जिट पॉइंट नहीं मिलने के चलते काफी बाइक का पेट्रोल खत्म हो गया, ऐसे में लोगों को भीषण गर्मी के बीच पैदल बाइक को लेकर चलना पड़ा। लोग पुलिसकर्मियों से बाइक में पेट्रोल नहीं होने का हवाला देकर एंट्री पॉइंट से एग्जिट करने की गुहार लगाते रहे। लोगों का कहना था कि रोड बना दिया गया, लेकिन एग्जिट पॉइंट भी रखे जाने चाहिए, जिससे लोगों को सुविधा मिल सके।

हादसे का खतरा, फुटओवर ब्रिज की जरूरत
इस रोड को आधी अधूरी तैयारियों के बीच खोला गया है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि काफी पॉइंट ऐसे हैं, जहां लोग तेज रफ्तार वाहनों के बीच रोड क्रॉस कर रहे हैं। लोग रोड क्रॉस नहीं कर सकें, इसके लिए कोई खास प्रबंध नहीं किए गए हैं। ऐसे में इस रोड पर हादसे होने का खतरा है। देखा गया कि सुभाष चौक पर अंडरपास व मारुति कुंज के समीप सहित अन्य जगहों पर लोग रोड क्रॉस करते नजर आए। रोड सेफ्टी से जुड़े लोगों का मानना है कि आने वाले समय में इस रोड पर कुछ जगह फुट ओवरब्रिज बनाए जाने की जरूरत होगी।

डिवाइडर से टकराई कार
इस रोड पर वाहनों की रफ्तार पर लगाम लगाने के लिए कोई प्रबंध नहीं किए गए है। 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से लोग वाहन ड्राइव कर सकते हैं। बादशाहपुर व वाटिका चौक के बीच एक कार डिवाइडर से टकरा गई। हादसे में कोई घायल हुआ या नहीं इसकी जानकारी फिलहाल नहीं हो सकी है। हालांकि क्षतिग्रस्त कार मौके पर ही थी।

ये कर रहे हैं गलती
राजीव चौक के पास ताऊ देवी लाल स्टेडियम के सामने एंट्री पॉइंट दिया गया है। यहां साइड में सोहना व सुभाष चौक की ओर जाने के लिए संकेत बोर्ड लगा है, लेकिन यह लोगों को जल्दी दिखाई नहीं दे रहा है। ऐसे में लोग यहां गलती से एलिवेटेड रोड पर एंट्री कर जा रहे हैं। इस एंट्री पॉइंट पर लोगों को जागरूकता संबंधी बड़ा बोर्ड लगाए लगाया जाए ताकी दूर से ही लोगों को जानकारी मिल सके कि कौन से रास्ते किधर जाना है।

About bheldn

Check Also

बूंद-बूंद से बर्बाद होता पानी, साल दर साल सूख रहा महानगरों का गला… जल संकट की ओर बढ़ रहा भारत

नई दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली इन दिनों जल संकट से जूझ रही है. कई इलाकों …