श्रीलंका में तांडव… सरकारी न्यूज चैनल पर प्रदर्शनकारियों का कब्जा, करने लगे देश को संबोधित

कोलंबो,

राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के देश छोड़कर भागने के बाद श्रीलंका में आक्रोश की सुनामी और तेज हो गई है. आज पीएम आवास, संसद भवन पर धावा बोलने के बाद उग्र भीड़ सरकारी न्यूज चैनल के दफ्तर में भी घुस गई. इतना ही नहीं एक प्रदर्शनकारी वहां न्यूज एंकर की जगह आकर बैठ गया और लाइव आकर बोलने लगा. इसके बाद टीवी चैनल का प्रसारण बंद करना पड़ा.

श्रीलंका आज चार दिन बाद फिर उबाल पर है. राष्ट्रपति गोटाबाया देश छोड़ कर मालदीव चले गए हैं, जिसके बाद श्रीलंका की जनता सड़कों पर उतर आई है. संसद भवन और पीएम हाउस में घुसने से जब पुलिस ने भीड़ को रोका तो हंगामा मच गया. प्रदर्शनकारियों को डराने-भगाने के लिए हवा में 10-12 राउंड फायर भी किये गए. लेकिन इससे कोई असर नहीं हुआ.

श्रीलंका संकट के बड़े अपडेट्स

– श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे देर रात देश छोड़कर भाग गये. वह मिलिट्री प्लेन से मालदीव पहुंच गये हैं. वह अपनी पत्नी और करीब 10 और खास लोगों को लेकर वहां पहुंचे हैं. यहां ये राजपक्षे दुबई जा सकते हैं. गोटाबाया ने अबतक राष्ट्रपति पद से इस्तीफा नहीं दिया है. माना जा रहा है कि वह दुबई से आगे जहां जाना चाहते हैं. वहां पहुंचकर इस्तीफा देंगे.

– गोटाबाया बिना इस्तीफा दिये मालदीव भागे हैं. इससे प्रदर्शनकारी ज्यादा नाराज है. क्योंकि इससे नई सरकार के गठन का काम अटक गया है.

– गोटाबाया के जाने से नाराज प्रदर्शनकारियों ने आज संसद भवन और पीएम हाउस की तरफ कूच किया था. सुरक्षाकर्मियों ने संसद भवन से कुछ दूर हजारों प्रदर्शनकारियों को रोक लिया था. लेकिन प्रदर्शनकारी सुरक्षा घेरा तोड़कर पीएम हाउस में घुस गये थे. ये लोग पीएम रानिल विक्रमसिंघे का भी इस्तीफा मांग रहे थे. रानिल विक्रमसिंघे का निजी आवास प्रदर्शनकारियों ने पहले ही फूंक दिया था.

– इसके बाद पड़ोसी देश श्रीलंका में आज रानिल विक्रमसिंघे को कार्यकारी राष्ट्रपति नियुक्त किया गया. वह अबतक पीएम पद पर थे. लेकिन गोटाबाया के भागने के बाद उनको स्पीकर ने रानिल विक्रमसिंघे को कार्रकारी राष्ट्रपति बना दिया है.

– उग्र प्रदर्शन के बीच रानिल विक्रमसिंघे की तरफ से यू-टर्न भी लिया गया. कार्यकारी राष्ट्रपति बनने से पहले उनकी तरफ से बयान आया कि श्रीलंका में आपातकाल लगाया जा रहा है. लेकिन कुछ देर बाद ही कहा गया कि कोई आपातकाल नहीं लगाया जा रहा है.

– उग्र भीड़ ने आज श्रीलंका के सरकारी न्यूज चैनल Jathika Rupavahini पर कब्जा कर लिया. प्रदर्शनकारी उस चैनल के दफ्तर में घुस गये थे. एक प्रदर्शनकारी वहां एंकर बनकर बैठ गया और अपनी बातें रखने लगा.

About bheldn

Check Also

अयोध्या में हारना बीजेपी के लिए सीधा संदेश…वायनाड सीट छोड़ने के बाद राहुल का पहला इंटरव्यू

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी केरल की वायनाड लोकसभा सीट छोड़ेंगे और रायबरेली का …