स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर INS विक्रांत पर देश का मान बढ़ाएंगी अग्निवीर बेटियां, बनेगा नया इतिहास

नई दिल्ली

अगले साल की शुरुआत तक इंडियन नेवी में अग्निवीर बेटियां सेलर्स के तौर पर भर्ती हो जाएंगी। इसके साथ ही अग्निवीर बेटियां एक नया इतिहास रचेंगी। अगले महीने भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत इंडियन नेवी का हिस्सा बनने वाला है। अग्निवीर के तौर पर भर्ती होने वालीं कुछ महिला सेलर्स को विक्रांत पर भी तैनात किया जा सकता है। हिंदुस्तान टाइम्स ने बुधवार को सूत्रों के हवाले से ये जानकारी दी है।

पहले स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत पर भी तैनात होंगी अग्निवीर बेटियां
हाल ही में घोषित नई अग्निपथ स्कीम के तहत इंडियन नेवी में पहली बार ऑफिसर रैंक से नीचे के पदों पर महिलाओं की भर्ती होने जा रही है। अग्निपथ स्कीम के तहत तीनों सेनाओं में गैरअफसर रैंक के लिए युवाओं की 4 साल साल के भर्ती होगी। एचटी ने एक अधिकारी के हवाले से बताया कि नेवी में भर्ती होने वाली कुछ महिला अग्निवीरों को विक्रांत पर तैनात किया जाएगा। विक्रांत देश में बनने वाला अबतक का सबसे बड़ा युद्धपोत है।

पहली बार नेवी में अफसर रैंक के नीचे होगी महिलाओं की भर्ती
इंडियन नेवी में अबतक महिलाएं सिर्फ ऑफिसर रैंक में ही भर्ती होती थीं। पहली बार अग्निपथ स्कीम के तहत पर्सनेल बिलो ऑफिसर रैंक (PBOR) काडर यानी अफसर रैंक के नीचे महिलाओं की भर्ती होगी। फिलहाल देश के इकलौते एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विक्रमादित्य पर भी नेवी की महिला अफसर तैनात हैं। एचटी ने एक अन्य अफसर के हवाले से बताया है कि नेवी के अग्निवीर जिनमें महिलाएं भी शामिल होंगी, को एयरक्राफ्ट कैरियर्स पर भी तैनात किया जाएगा।

अग्निपथ स्कीम के तहत नेवी में इस साल होगी 3000 भर्ती
अग्निपथ स्कीम के तहत नेवी की योजना 3000 कैंडिडेट को चुनने की है। इनमें से करीब 20 प्रतिशत तक महिलाएं होंगी। महिला अग्निवीरों को भी ट्रेनिंग मिलेगी जो पुरुषों को मिलेगी। इस साल तीनों सेनाएं मिलकर 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती करेंगी। इनमें से 40 हजार भर्तियां आर्मी में और 3-3 हजार एयर फोर्स और नेवी में होंगी।

अगले महीने स्वतंत्रता दिवस पर नेवी में शामिल होगा विक्रांत
एयरक्राफ्ट कैरियर विक्रांत अगले महीने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इंडियन नेवी में शामिल होने वाला है। इससे समंदर में भारत की मौजूदगी और ताकत में काफी इजाफा होगा। विक्रांत का वजन करीब 40,000 टन है। यह एयरक्राफ्ट कैरियर करीब 262 मीटर लंबा और 62 मीटर चौड़ा है। इस पर 30 लड़ाकू विमान और हेलिकॉप्टर तैनात किए जा सकते हैं। एयरक्राफ्ट कैरियर ‘विक्रांत’ पर मिग-29के लड़ाकू विमानों और केए-31 हेलिकॉप्टरों का एक बेड़ा तैनात किया जाएगा। इसके अलावा इस पर फाइटर एयरक्राफ्ट तैयार किए जाएंगे जिसके लिए अमेरिकी F-18 सुपर हॉर्नेट और फ्रांस के रफाल-M में से किसी एक को चुना जाना है।

भारत में बना सबसे बड़ा और विशालकाय एयरक्राफ्ट कैरियर है विक्रांत
‘विक्रांत’ कई मामलों में बेहद खास है। न सिर्फ यह भारत का पहला स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर है बल्कि देश में बना सबसे बड़ा और विशालकाय युद्धपोत भी है। इंडियन नेवी में शामिल होने के बाद यह देश का दूसरा एयरक्राफ्ट कैरियर होगा। फिलहाल भारत में सिर्फ एक एयरक्राफ्ट कैरियर है- आईएनएस विक्रमादित्य।

हिंद महासागर में नहीं चलेंगी चीन की चालबाजियां
इंडियन नेवी हिंद महासागर क्षेत्र में सैन्य मौजूदगी बढ़ाने की चीन की बढ़ती कोशिशों के मद्देनजर अपनी संपूर्ण क्षमता महत्वपूर्ण रूप से बढ़ाने पर जोर दे रही है। हिंद महासागर, देश के रणनीतिक हितों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। ‘विक्रांत’ के जरिए भविष्य में हिंद महासागर क्षेत्र में चीन की किसी की तरह की चालबाजी या हिमाकत का समय रहते मुंहतोड़ जवाब दिया जा सकेगा।

About bheldn

Check Also

‘मुख्य आरोपी का बिहार के डिप्टी CM से क्या रिश्ता?’, NEET पेपर लीक को लेकर सम्राट चौधरी पर RJD का हमला

नई दिल्ली, पिछले कुछ दिनों NEET पेपर लीक से जुड़ा मामला सुर्खियों में है. इन …