अमेरिकी सैनिकों ने जर्मनी में कटाई नाक! पूरी ब्रिगेड के दारू पीने पर लगी रोक, जानें क्या है पूरा मामला

बर्लिन

अमेरिकी सेना की एक ब्रिगेड को शाम होने के बाद अपने बेस पर ही रहना होगा। साथ ही सैनिकों के शराब के सेवन पर भी अस्थायी रूप से रोक लगा दी गई है। सेना के पांच अधिकारियों पर 4 जुलाई को नूर्नबर्ग में शराब पीकर गाड़ी चलाने के आरोप लगने के बाद ये कदम उठाए गए हैं। यूरोप में अमेरिकी सेना के प्रवक्ता जॉन टोमासी ने कहा कि 4 जुलाई के वीकेंड में पांचों सैनिकों पर जर्मनी में शराब की कानूनी सीमा से अधिक के सेवन का आरोप लगा था।

सीएनएन की एक खबर में इसकी जानकारी दी गई है। टोमासी ने कहा कि सेना इस घटना की जांच कर रही है। फर्स्ट आर्मर्ड ब्रिगेड कॉम्बैट टीम, जिसमें 3000 सैनिक शामिल हैं, को बताया गया है कि वे रात के दौरान अपना बेस नहीं छोड़ सकते और शराब पर तब तक प्रतिबंध लगा दिया गया है जब तक शराब पीने और ड्राइविंग के संबंध में जर्मन कानूनों का पालन करने के लिए यूनिट की ट्रेनिंग पूरी नहीं हो जाती।

यूक्रेन युद्ध के बाद जर्मनी पहुंची अमेरिकी ब्रिगेड
टोमासी ने कहा कि ट्रेनिंग के इस हफ्ते के अंत में पूरी होने की संभावना है। सैनिकों की यूनिट जॉर्जिया के फोर्ट स्टीवर्ट में मौजूद थी। यूक्रेन पर रूसी हमले के कारण पूर्वी यूरोप में अमेरिकी सहयोगियों की मदद करने के लिए अमेरिकी सेना के प्लान के तहत इसे जर्मनी में तैनात किया गया है। सैनिक बड़े पैमाने पर ग्रेफेनवोहर ट्रेनिंग एरिया में कार्यरत हैं।

‘दूसरे देश के नियमों को समझें सैनिक’
टोमासी ने कहा, ‘ब्रिगेड के लीडर्स ने यह सुनिश्चित करने के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई की है कि सैनिक मेजबान देश के नियमों को समझें।’ सैनिकों के शराब का सेवन अमेरिकी सेना में एक अहम मुद्दा रहा है क्योंकि यह बेस पर दुर्व्यवहार का कारण बन सकता है। हालांकि सेना के एक अधिकारी ने खुलासा किया कि कुछ वरिष्ठ सैन्य कर्मियों ने संभावित दुर्व्यवहार को कम करने के प्रयास में बैरकों में शराब प्रतिबंध कम करने का सुझाव दिया है।

About bheldn

Check Also

ये क्या! राहुल गांधी के राइट हैंड से गले मिलने लगे BJP के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह

नई दिल्ली/बेगूसराय 18वीं लोकसभा का पहला सत्र शुरू हो गया है। सत्र के पहले दिन …