सभी नेता अपनीअंतर्रात्मा की आवाज पर मतदान करें… राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले यशवंत सिन्हा की भावुक अपील

नयी दिल्ली

राष्ट्रपति चुनाव से महज दो दिन पहले, विपक्ष की ओर से साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने शनिवार को सभी विधायकों और सांसदों से अपनी अंतरात्मा की आवाज पर मतदान करने की अपील की और एक बार फिर कहा कि यह दो विचारधाराओं के बीच की लड़ाई है। सिन्हा ने अपने ट्विटर हैंडल पर डाले गए वीडियो संदेश में कहा कि संविधान यह व्यवस्था देता है कि मतदान गोपनीय होगा और किसी पार्टी का ‘व्हिप’ लागू नहीं होगा, जिसका अर्थ है कि विधायक और सांसद खुद यह तय कर सकते हैं कि वे किसके पक्ष में मतदान करना चाहते हैं।

यशवंत सिन्हा की भावुक अपील
उन्होंने कहा,’इस बार राष्ट्रपति पद का चुनाव असाधारण परिस्थितियों में हो रहा है। देश के सामने कई मोर्चों पर कई प्रकार की समस्याएं हैं, लेकिन सबसे बड़ी समस्या है कि अपने संविधान को कैसे बचाया जाए।’ एनडीए की तरफ से द्रोपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया है। मुर्मू की जीत लगभग तय मानी जा रही है, अगर ऐसा हुआ तो वो भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होंगी। इसके लिए मुर्मू ने तमाम पार्टियों के नेताओं से खुद बात करते खुद के लिए समर्थन मांगा है।

द्रोपदी मुर्मू को मिल रहा समर्थन
जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार नहीं भी है वहां भी मुर्मू को समर्थन मिल रहा है। उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक ने पहले ही मुर्मू का समर्थन करने का ऐलान कर दिया है। इसके बाद शिवसेना और झारखंड मुक्ति मोर्चा ने भी एनडीए प्रत्याशी का समर्थन किया है। अब यशवंत सिन्हा को ये चुनाव मुश्किल लग रहा है। इसलिए उन्होंने एक इमोशनल मैसेज सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। जिसमें वो खुद के लिए वोटिंग की अपील कर रहे हैं। आज एनडीए ने उपराष्ट्रपति के लिए भी नाम का ऐलान कर दिया है। एनडीए की ओर से पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को एनडीए का उम्मीदवार बनाया गया है।

About bheldn

Check Also

NTA विवाद: ये 7 अधिकारी तय करेंगे एनटीए कितना ‘साफ’! शिक्षा मंत्रालय ने बनाई हाई-लेवल कमेटी

नई दिल्ली, NEET UG 2024 परीक्षा में कथित धांधली को लेकर शिक्षा मंत्रालय ने NTA …