कैलाश मानसरोवर यात्राः उत्तराखंड में 36 घंटे से फंसे 40 श्रद्धालु किए गए रेस्क्यू

पिथौरागढ़,

कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर भी उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश का विपरीत असर पड़ता नजर आ रहा है. सड़क बंद होने के कारण आदि कैलाश की यात्रा पूरी कर लौट रहे 40 तीर्थयात्री पिछले 36 घंटे से बूंदी में फंसे थे. सभी तीर्थयात्रियों को रेस्क्यू कर लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक बूंदी में फंसे तीर्थयात्रियों को पिथौरागढ़ जिला प्रशासन ने हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू कर धारचूला मुख्यालय पहुंचा दिया है. धारचूला से तीर्थयात्रियों को वाहनों से उनके गंतव्य के लिए रवाना किया गया.यात्रियों ने हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किए जाने पर खुशी जताते हुए पिथौरागढ़ जिला प्रशासन और राज्य सरकार का आभार जताया है.

धारचूला के उपजिलाधिकारी नंदन कुमार ने बताया कि सभी यात्रियों को रेस्क्यू करने के लिए हेलिकॉप्टर को 8 बार उड़ान भरनी पड़ी. दरअसल, कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग में जगह-जगह भारी बोल्डर गिर गए थे जिसकी वजह से सड़क बंद हो गई थी. इसके चलते आदि कैलाश यात्रा पूरी कर लौट रहे यात्रियों का एक दल बूंदी में फंस गया था. प्रशासन ने 36 घंटे बाद वहां से यात्रियों को रेस्क्यू किया है.

बद्रीनाथ-ऋषिकेश नेशनल हाईवे पर आवाजाही बंद
उधर, उत्तराखंड के रूद्रप्रयाग में बद्रीनाथ-ऋषिकेश नेशनल हाईवे पर आवाजाही बंद हो गई है. जबरदस्त लैंडस्लाइड की वजह से हाईवे पर मलबा जमा हो गया है, जिस वजह से ट्रैफिक को रोकना पड़ा है. भूस्खलन के चलते उत्तराखंड में कई रास्ते ब्लॉक हो गए हैं. रुद्रप्रयाग में भूस्खलन की वजह से बद्रीनाथ-ऋषिकेश हाईवे बंद हो गया है. मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि उत्तराखंड के देहरादून में रविवार को गरज के साथ भारी बारिश हो सकती है. देहरादून में न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम तापमान 35 डिग्री रह सकता है

About bheldn

Check Also

UP: प्रेशर कुकर मारकर पत्नी की हत्या, फिर पति ने किया सुसाइड का प्रयास

लखनऊ , उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आपसी विवाद के चलते पति ने पत्नी की …