9 दिन बाद खत्म हो जाता बस का फिटनेस सर्टिफिकेट, नर्मदा हादसे में 13 मौतें

भोपाल,

मध्य प्रदेश के धार में आज भयानक हादसा हुआ. यहां से 30-32 मुसाफिरों को लेकर महाराष्ट्र जा रही बस नर्मदा नदी में गिर गई. इस हादसे में 13 यात्रियों की मौत हो गई, जिसमें 4 महिलाएं और एक बच्चा भी शामिल था. बाकी 15 लोगों को नदी में डूबती बस में से किसी तरह बचा लिया गया.

यह बस महाराष्ट्र स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन  की थी. सुबह 7.30 बजे बस मध्य प्रदेश के इंदौर से चली थी. इसे 260 किलोमीटर दूर महाराष्ट्र के जलगांव जिले में मौजूद अमलनेर पहुंचना था. यह बस करीब 10 बजे खलघाट और थिगरी के बीच बने पुल पर पहुंची. वहां किसी वजह से बस का बैलेंस बिगड़ा और यह पुल की रेलिंग से टकराकर नदी में जा गिरी.

इसके बाद आसपास चीख-पुकार मच गई. लोगों को बचाने के लिए लोग नदी की तरफ भागने लगे. बाद में प्रशासन, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के लोग भी वहां पहुंचे.MSRTC ने बताया कि कुल 13 लोगों के शव बरामद किये जा चुके हैं. बस के ड्राइवर और कंडक्टर दोनों की भी मौत हो गई है. मारे गये लोगों में से 8 लोगों की पहचान हो गई है. MSRTC ने बताया कि चंद्रकांत एकनाथ पाटिल (45) उस बस को चला रहे थे. वहीं प्रकाश चौधरी (40) उसके कंडक्टर थे. दोनों जलगांव के ही थे.

27 जुलाई को एक्सपायर होने वाला था फिटनेस सर्टिफिकेट
हादसे के बाद जल्द से जल्द लोगों और शवों को बाहर निकाला गया. इसके बाद क्रेन की मदद से उस बस को भी नदी से निकाला गया. जानकारी मिली है कि जो बस नदी में गिरी वह 10 साल से ज्यादा पुरानी थी. उसका फिटनेस सर्टिफिकेट 27 जुलाई को एक्सपायर होने वाला था. वहीं उसका पलूशन और इंशोरेंस के कागज पूरे थे.

हादसे के बाद मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र के साथ-साथ दिल्ली तक शोक की लहर दौड़ गई. पीएम मोदी ने भी इस हादसे पर संवेदना जताई. महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने घटना पर शोक जताते हुए मारे गये यात्रियों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया. यह पैसा MSRTC द्वारा दिया जाएगा.

About bheldn

Check Also

MP के जल संकट को दूर करने के लिए पानी देगा यूपी, CM योगी ने जमरार बांध से पानी छोड़ने का किया ऐलान

लखनऊ, मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में पानी की कमी को दूर करने के लिए उत्तर …