अमेरिका के दो दुश्मन देश आए एक साथ, किया ये बड़ा ऐलान

नई दिल्ली,

रूस और ईरान दो ऐसे देश हैं जिन पर अमेरिका सहित पश्चिमी देशों ने कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं. ऐसे में अब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता ने कहा है कि रूस और ईरान को अपनी संप्रभुता की कीमत इन प्रतिबंधों को झेलकर चुकानी पड़ रही है. रूसी प्रवक्ता ने ये भी कहा कि दोनों देश अब आपसी कारोबार में धीरे-धीरे डॉलर का इस्तेमाल बंद कर देंगे.

रूस के राष्ट्रपति के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि दोनों देशों पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं, जिनकी संख्या हजारों में हो सकती है. ये प्रतिबंध विभिन्न क्षेत्रों में लगाए गए हैं लेकिन यह वह कीमत है, जो हम हमारी स्वतंत्रता और संप्रभुता के लिए चुका रहे हैं.

रूस, ईरान के पास द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने का अवसर
उन्होंने कहा कि रूस और ईरान के पास इन प्रतिबंधों के खामियाजे को कम करने के लिए सहयोग बढ़ाने का अवसर है. ईरान पर लगाए गए प्रतिबंधों पर पेस्कोव ने कहा कि देश एक दशक से भी अधिक समय से प्रतिबंध के साए में रहा है और इसके बावजूद वह अपना लोगों की भलाई के लिए लगातार काम कर रहा है.

उन्होंने कहा कि रूस पर भी गाहे-बगाहे प्रतिबंध लगते रहे हैं. अब मुझे लगता है कि हमारे पास द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने का अवसर है ताकि इन प्रतिबंधों की वजह से हुए नुकसान को कम किया जा सके.

रूस, ईरान कारोबार में डॉलर का उपयोग बंद करेंगे
पेस्कोव ने कहा कि समय के साथ-साथ रूस और ईरान द्विपक्षीय कारोबार में डॉलर का इस्तेमाल करना बंद कर देंगे. हम सभी जानते हैं कि बीते साल दोनों देशों के बीच व्यापार चार अरब डॉलर से अधिक रहा. हम बैंकिंग और वित्तीय सेक्टर में हमारे सहयोग को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं.

दोनों देश द्विपक्षीय कारोबार में डॉलर के बजाय अपनी स्थानीय मुद्राओं को तरजीह देंगे.उन्होंने बताया कि इस साल के शुरुआती चार महीनों में रूस और ईरान के बीच कारोबार 31 फीसदी बढ़ा है, जो कि सकारात्मक रुझान को दर्शाता है.पेस्कोव ने कहा कि ईरान हमारा दोस्त और साझेदार है. वास्तव में हम हमारे संबंधों को बहुत महत्व देते हैं. यह खुशी की बात है कि दोनों देशों के राष्ट्रपति एक दूसरे के संपर्क में है.

प्रवक्ता ने कहा कि जल्द ही रूस और ईरान दीर्घकालीन रणनीतिक सहयोग समझौते कर सकते हैं, जिससे उन पर लगे पश्चिमी प्रतिबंधों के प्रभाव को कम करने में मदद मिल सके.प्रवक्ता पेस्कोव ने अगले हफ्ते राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के ईरान दौरे का उल्लेख किया. इस दौरे से दोनों देशों की बहुत सी उम्मीदें बंधी हैं.

About bheldn

Check Also

‘बाइडेन को याद नहीं कि…’, राष्ट्रपति चुनाव से नाम वापस लेने के बाद डोनाल्ड ट्रंप का तंज

नई दिल्ली, अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव से जो बाइडेन के अपना नाम वापस लेने के …