झारखंड के CM हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि को ED ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली,

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार कर लिया है. ईडी ने पहले ही इस मामले में साहेबगंज समेत अन्य इलाकों से 36 करोड़ रुपया सीज किया था. ये पैसा पंकज मिश्रा और उनके सहयोगियों के खाते में था.

यह गिरफ्तारी अवैध खनन मामले से जुड़ी है. ईडी ने पहले PMLA एक्ट, 2002 के तहत हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, दाहू यादव और उनके सहयोगियों के 37 बैंक खातों में 11.88 करोड़ रुपये सीज किये थे. इससे पहले ईडी ने साहिबगंज, बरहेट, राजमहल, मिर्जा चौकी और बरहरवा में 19 स्थानों पर तलाशी ली थी. इसमें 5.34 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकदी जब्त की गई थी.

कुल मिलाकर साहेबगंज से पंकज मिश्रा और दाहू यादव समेत उनके सहयोगियों के अलग-अलग अकाउंट से मिले 36 करोड़ को ED ने सीज किया था. साथ ही साथ उनके बैंक अकाउंट भी फ्रीज किये गए थे.इससे पहले मई, 2022 के महीने में ईडी ने मनरेगा घोटाले से जुड़े 36 स्थानों पर तलाशी ली थी. इसमें 19.76 करोड़ रुपये नकद जब्त किए गए थे. जिन जगहों से यह नकदी मिली उसमें IAS पूजा सिंघल के ठिकाने भी शामिल थे.

कांग्रेस-JMM ने केंद्र सरकार को घेरा
पंकज मिश्रा के मामले पर राजनीति भी शुरू हो चुकी है. कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) केंद्र सरकार पर हमलावर हैं. JMM महासचिव ने कहा कि ED के मायने अब बदल गए हैं. अब इसका मतलब end ऑफ democracy हो गया है. वह बोले कि आदिवासी मुख्यमंत्री को बदनाम करने का खेल हो रहा है.वहीं कांग्रेस के नेता कहते हैं कि लोकतंत्र और प्रजातंत्र सत्तारूढ़ BJP के पैरों तले कुचले जा रहे हैं और ED, CBI और बाकी एजेंसी प्रधानमंत्री के इशारे पर काम करने वाली कठपुतली बन गई हैं.

पूर्व सीएम और बीजेपी नेता बाबूलाल मरांडी ने इस एक्शन के बाद झारखंड सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मैं आपको शुरू से आगाह कर रहा था कि साहिबगंज में बालू-पत्थर,ज़मीन की लूट आपके विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के संरक्षण और सहभागिता में चल रहा है, पर आप मौन स्वीकृति दिये रहे.

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …