MP : निकाय चुनाव में AAP का 1 मेयर, 17 पार्षद जीते, 35 रनरअप; ग्वालियर-उज्जैन में बिगाड़ा खेल

भोपाल

मध्यप्रदेश के निकाय चुनाव में आम आदमी पार्टी (AAP) और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन (AIMIM) ने धमाकेदार एंट्री की। दोनों पार्टियों ने पहले चरण की मतगणना में भाजपा-कांग्रेस के सियासी गणित बिगाड़ दिए, जीत के अंतर पर भी असर डाला। पहली बार में ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पार्टी AAP का एक मेयर बना, तो 17 पार्षद भी जीते। ग्वालियर में मेयर प्रत्याशी तीसरे नंबर पर रहीं।AIMIM के दो पार्षद जीते, तो दो दूसरे नंबर पर रहे। अब दोनों पार्टियों की नजर 2023 के विधानसभा चुनाव पर है। बुरहानपुर, ग्वालियर, उज्जैन में सियासी दांवों में उलटफेर देखने को मिला। तीनों परिणामों ने साफ कर दिया कि मैदान में AAP और ओवैसी की पार्टी नहीं उतरी होतीं तो नतीजे बदल भी सकते थे।

खबर में आगे बढ़ने से पहले बुरहानपुर, उज्जैन और ग्वालियर के महापौर चुनाव परिणामों की बात करते हैं। बुरहानपुर में भाजपा-कांग्रेस के बीच 542 मतों का अंतर था, जबकि ओवैसी की पार्टी को यहां 10 हजार 322 वोट मिले। उज्जैन में भाजपा 736 मतों जीती। यहां आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी संतोष वर्मा को 9300 वोट मिले। ग्वालियर में कांग्रेस की शोभा सिंह ने 28 हजार 805 वोटों से जीत दर्जकर 52 साल का सूखा समाप्त किया है। यहां आप प्रत्याशी रुचि गुप्ता तीसरे स्थान पर रहीं। उन्हें 45 हजार 762 मत मिले हैं।

आप के 1 मेयर और 17 पार्षद चुने गए
आम आदमी पार्टी को दिल्ली, पंजाब, गुजरात के बाद मध्यप्रदेश में बड़ी उम्मीद दिखने लगी है। पार्टी ने निकाय चुनाव के बहाने पूरे प्रदेश में अपने पार्षद और मेयर प्रत्याशी उतारे। पर दिल्ली के सीएम और पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल प्रदेश में प्रचार करने सिर्फ सिंगरौली पहुंचे थे। यहां की जनता ने भी उन्हें निराश नहीं किया।AAP की पहली महापौर बनकर रानी अग्रवाल ने इतिहास रच दिया। यहां से पार्टी के 5 पार्षद भी जीते हैं। वहीं 7 पार्षद दूसरे स्थान पर रहे। प्रदेश की बात करें तो नौ जिलों में पार्टी ने खाता खोला है। उसके 17 पार्षद जीते हैं। वहीं 18 जिलों की 35 पार्षद सीटों पर वह दूसरे स्थान पर है।

जिलेवार AAP का प्रदर्शन
सिंगरौली
मेयर जीता: रानी अग्रवाल को 34,585 मत मिले
पार्षद: 5 जीते, 7 दूसरे स्थान पर

ग्वालियर
मेयर तीसरे नंबर: रुचि गुप्ता को 45,762 मत मिले
पार्षद: 5 पार्षद जीते, 4 दूसरे स्थान पर

उज्जैन
आप के मेयर प्रत्याशी संतोष वर्मा 9300 मत पाकर तीसरे स्थान पर रहे

सतना
आप के मेयर प्रत्याशी बसंत कुमार विश्वकर्मा 4015 मत पाकर चौथे स्थान पर रहे।

यहां भी पार्षद जीते
रीवा, कटनी, शाजापुर, निवाड़ी, श्योपुर, मुरैना, भिंड जिले में 1-1 पार्षद जीते हैं।

यहां दूसरे स्थान पर रहे पार्षद
सतना, रीवा, सिंगरौली, कटनी, जबलपुर, नर्मदापुरम, भोपाल, शाजापुर, देवास, बुरहानपुर, इंदौर, नीमच, निवाड़ी, श्योपुर, मुरैना, भिंड, ग्वालियर, दतिया, छतरपुर जिले में 35 पार्षद प्रत्याशी दूसरे स्थान पर रहे।

जीत की ये रही वजह
लोग बदलाव चाहते हैं।
प्रदेश में तीसरे विकल्प की जरूरत महसूस हो रही है।
बसपा-सपा, गोंगपा तीसरा विकल्प नहीं बन पाए।

AIMIM की सधी शुरूआत
अब बात करते हैं ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन (AIMIM) की। निकाय चुनाव में पार्टी ने प्रदेश के पांच शहरों में मेयर के 2 और 53 पार्षद प्रत्याशी उतारे थे। जबलपुर में दो और खंडवा, बुरहानपुर में एक-एक पार्षद चुनाव जीतने में सफल रहे। जबलपुर, भोपाल, खंडवा और बुरहानपुर में 8 पार्षद प्रत्याशी दूसरे नंबर पर आए। बुरहानपुर में पार्टी की मेयर प्रत्याशी शाइस्ता सोहैल हाशिमी तीसरे स्थान पर रहीं। उन्हें 10 हजार 322 मत मिले। खंडवा में मेयर प्रत्याशी कनीज-बी को 9601 वोट मिले।

About bheldn

Check Also

जिसने जुर्म किया है उसे ही जांच सौंप दी जाए तो… दिग्विजय सिंह ने NEET घोटाले में पीएम मोदी से कर दी बड़ी मांग

भोपाल नीट यूजी की परीक्षा के रिजल्ट को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय …