ब्रिटेन के PM बनने के करीब, पर आखिरी बाजी नहीं जीत पाएंगे ऋषि सुनक?

नई दिल्ली,

ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री की दौड़ में ऋषि सुनक और लिज ट्रस के बीच सोमवार को लाइव डिबेट होगी. यही डिबेट इनके भविष्य का फैसला करेगी. इसके बाद पोस्टल बैलेट पर वोटिंग होगी. दोनों ही नेता बोरिस जॉनसन की कैबिनेट के कद्दावर नेता रह चुके हैं और प्रधानमंत्री की रेस में अपनी दावेदारी जोर शोर से पेश कर रहे हैं. भारतीय मूल के ब्रिटिश सांसद ऋषि सुनक को शुरुआत से ही प्रधानमंत्री पद का प्रबल दावेदार बताया जा रहा है. वह इस प्रक्रिया में अब तक हर राउंड की वोटिंग में शीर्ष पर रहे हैं. लेकिन लिज़ ट्रस से उनका जीत पाना मुश्किल भी लग रहा है.

यूगव (YouGov) के हालिया सर्वे से इसके संकेत मिले हैं. इस सर्वे में प्रधानमंत्री की दौड़ में लिज़ ट्रस ने ऋषि सुनक पर 28 वोटों की बढ़त बना ली है.कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों ने गुरुवार को सुनक और ट्रस को पार्टी नेतृत्व के आखिरी चरण में पहुंचाने के लिए वोट किया था. ब्रिटेन की मार्किट रिसर्च और डेटा एनालिस्टिक कंपनी यूगव सर्वे के मुताबिक, सुनक और ट्रस में से किसी एक को अगला प्रधानमंत्री चुना जाएगा. इन दोनों उम्मीदवारों में से किसी एक को अगला प्रधानमंत्री चुनने के लिए चार अगस्त से लेकर सितंबर की शुरुआत तक वोटिंग होगी.

इस हफ्ते की शुरुआत में आंकड़ों से पता चला था कि 46 साल की ट्रस, सुनक को 19 अंकों से हरा देंगी. ट्रस ने मजबूत बढ़त बरकरार रखी है.यह सर्वे बुधवार और गुरुवार को कंजर्वेटिव पार्टी के 730 सांसदों पर किया गया. इस सर्वे में शामिल 62 फीसदी लोगों का कहना है कि वे ट्रस के लिए वोट करेंगे जबकि 38 फीसदी ने सुनक को चुना. इसके अलावा, ऐसे भी कई सांसद रहे, जिन्होंने किसी का चुनाव नहीं किया. ट्रस ने सुनक पर 24 आधार अंकों की बढ़त बना ली है.

कंजर्वेटिव सदस्यों की मौजूदा संख्या अभी पता नहीं है लेकिन 2019 में हुए चुनाव में लगभग 160,000 सदस्य थे. अब इनकी संख्या बढ़ने की उम्मीद है. स्काई न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रस ने सुनक को हर श्रेणी में मात दी है. उन्होंने महिलाओं और पुरुषों दोनों का विश्वास जीता है. साथ में 2016 में ब्रेग्जिट (ईयू से ब्रिटेन के अलग होने) के लिए वोट देने वालों का भी उन्हें समर्थन मिला है. सुनक सिर्फ एक ही मोर्चे पर ट्रस को पिछाड़ पाए हैं और वह है 2016 में ब्रेग्जिट के खिलाफ रहे वोटर्स.

ये नतीजे बिल्कुल उलट है है क्योंकि ट्रस ने 2016 में हुए जनमत संग्रह के दौरान ब्रेग्जिट में बने रहने का समर्थन किया था जबकि सुनक ने ब्रेग्जिट के लिए प्रचार किया था.सुनक अब तक हुई सभी पांच राउंड की वोटिंग में सबसे आगे रहे लेकिन सर्वे के मुताबिक अब उन्हें पार्टी के भीतर कमतर समझा जा रहा है. खुद बोरिस जॉनसन प्रधानमंत्री के लिए लिज ट्रस को अपनी पसंद बता चुके हैं.

अब तक की वोटिंग में सुनक पार्टी सांसदों के पसंदीदा उम्मीदवार रहें. उन्हें पांचवें दौर में 137 वोट जबकि ट्रस को 113 वोट मिले थे. लेकिन सट्टेबाज इस दौड़ में ट्रस को फ्रंटरनर बता रहे हैं.शुरुआती संकेतों से पता चलता है कि लिज ट्रस टोरी सांसदों में अधिक लोकप्रिय हैं. बता दें कि पांच सितंबर को ब्रिटेन का अगला प्रधानमंत्री चुन लिया जाएगा.

About bheldn

Check Also

एक नींद की झपकी और 14 लोगों की दर्दनाक मौत… यहां जानिए कैसे हुआ रुद्रप्रयाग में भयंकर हादसा

रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर रैतोली गांव के समीप शनिवार …