भोपाल में लबालब हैं तालाब, कलियासोत और भदभदा डैम के गेट खोले गए

भोपाल

राजधानी भोपाल में लगातार बारिश  हो रही है। इसके बाद सभी तालाब लबालब भर गए हैं। तालाब भरने के बाद दो डैम के गेट खोले गए हैं। इसके साथ ही निचली बस्तियों में अलर्ट जारी किया गया है। बड़ा तालाब के बाद कलियासोत भी फुल टैंक हो गया है। कलियासोत का फुल टैंक लेवल 1659 फीट पहुंच गया है। शनिवार को भदभदा के दो गेट खोले गए थे, रविवार को 7 और गेट खोल दिए गए हैं। इसी बीच कलियासोत डैम के आठ गेट खोले गए हैं। कलियासोत में कुल 13 गेट हैं, जिनमें से रविवार को आठ गेट खोल दिए गए हैं। भोपाल में पिछले कई घंटों से बारिश का दौर जारी है।

वहीं, मौसम विभाग में राजधानी भोपाल समेत नर्मदापुरम और अन्य संभागों में येलो अलर्ट जारी किया है। राजधानी भोपाल की सड़कें तालाब में तब्दील हो गई हैं और लगातार बारिश का दौर जारी है। कलियासोत डैम खोलने से पहले निचली बस्ती में पुलिसकर्मियों ने पहुंचकर लोगों को समझाइश दी और अनाउंस किया है कि वे जल्द से जल्द बस्ती खाली कर दें। कलियासोत डैम के गेट खोल दिए गए हैं।

डैम के गेट खुलने से निचली बस्तियों में पानी भरने की ज्यादा संभावना है, जिसके चलते पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया है। पुलिस लोगों से गुजारिश कर रही है कि जल्द से जल्द जगह छोड़कर सुरक्षित जगहों पर कुछ दिन के लिए चले जाएं, जिससे कि किसी भी तरह की जनहानि न हो पाए। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार राजधानी भोपाल में कुछ दिनों तक ऐसा ही मौसम रहेगा।  बता दें कि भोपाल में पिछले 24 घंटे के अंदर 3 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है।

ग्वालियर-चंबल बेल्ट में भी अब बादल टूटकर बरस रहे हैं। बेतवा नदी उफान पर है। इसके किनारे के गांवों में अलर्ट जारी किया गया है। शिवपुरी के मोहिनी सागर और मड़ीखेड़ा बांध के गेट खोलने से सिंध नदी में भी जलस्तर बढ़ गया है। क्वारी नदी का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। खंडवा में इंदिरा सागर बांध के 12 गेट खोलने पड़ गए। सीहोर के नसरुल्लांगज और रेहटी में भारी बारिश से निचले इलाकों में पानी भर गया। शिवपुरी में बेतवा में नदी उफना गई। टापू पर फंसे दो चरवाहे और उनके जानवरों को रेस्क्यू किया गया।

नर्मदा, शिप्रा और ताप्ती पहले से ही उफनाई हुई हैं। राजघाट बांध, भदभदा डैम, ओंकारेश्वर बांध और तवा डैम के साथ ही प्रदेश में कई जगह बांधों के गेट खोलने पड़े हैं। रविवार सुबह खंडवा में इंदिरा सागर के भी 20 में से 12 गेट खोलना पड़ गए। 6 गेट 1 मीटर और 6 गेट आधा मीटर तक खोले गए हैं। इंदिरा सागर डैम का जलस्तर 257.86 है। नर्मदापुरम में तवा डैम के गेट खुलने और ऊपरी हिस्सों में बारिश की वजह से इंदिरा सागर डैम में लगातार पानी भर रहा है। जुलाई का निर्धारित जलस्तर बनाए रखने के लिए पानी छोड़ा जा रहा है। नेमावर में नर्मदा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है।

छिंदवाड़ा के माचागोरा जलाशय के 4 गेट खोले
लगातार बारिश से छिंदवाड़ा का माचागोरा जलाशय भी लबालब हो गया है। जिसके चलते डैम के 7 में से 4 गेट खोले गए है। जल संसाधन विभाग ने लगातार पानी की आवक देखते हुए गेट खोलने का फैसला लिया है।

सीहोर के नसरुल्लागंज में निचले इलाके पानी में डूबे
सीहोर जिले में बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया। रेहटी में घरों और दुकानों में पानी भर गया। नसरुल्लागंज में 24 घंटे में 4 इंच बरसात हो चुकी है। निचले इलाकों में पानी भर गया। तहसील मुख्यालय का दो दर्जन से अधिक गांवों से संपर्क कट गया है। नंदगांव में अंबर नदी की बाढ़ में एक ही परिवार के 12 लोग फंस गए। सभी लोगों को रेस्क्यू टीम ने सुरक्षित निकाल लिया है। नर्मदा नदी उफनाने से पानी नीलकंठ पातालेश्वर शंकर मंदिर की दीवार से लग गया। छीपानेर में नर्मदा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। पांडागांव में सीप नदी उफान पर है। पांचौर में भी ब्रिज के ऊपर पानी है।

24 घंटे में 2 की मौत
24 घंटे में 2 लोगों की मौत हो गई। छिंदवाड़ा में ट्रैक्टर समेत तीन लोग कंगला नदी पार करते समय बह गए। ड्राइवर की मौत हो गई। मुरैना में भी बिजली गिरने से अधेड़ की मौत हो गई। उधर, नर्मदापुरम के तवानगर में तवा डैम देखने पहुंचे चार युवक तवा नदी के बीच फंस गए। चारों फोटो लेने के लिए बीच नदी में चट्‌टान के पास पहुंच गए। डैम से पानी छोड़ा जा रहा था, अचानक जलस्तर बढ़ गया और चारों मदद के लिए चिल्लाने लगे। वहां मौजूद दूसरे लोगों ने लकड़ियों के सहारे चारों को बचाया।

About bheldn

Check Also

जिसने जुर्म किया है उसे ही जांच सौंप दी जाए तो… दिग्विजय सिंह ने NEET घोटाले में पीएम मोदी से कर दी बड़ी मांग

भोपाल नीट यूजी की परीक्षा के रिजल्ट को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय …