गुजरात: जहरीली शराब पीने से 9 की मौत, कई लोग अस्पताल में भर्ती

अहमदाबाद,

गुजरात के बोटाड में जहरीली शराब पीने की वजह से कई लोगों को अस्पताल में भर्ती करना पड़ गया है. कहा जा रहा है कि जहरीली शराब के सेवन की वजह से कुछ लोगों की मौत भी हो गई है. पुलिस ने 9 मौतों की पुष्टि कर दी है.

जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक बोताड में कई लोगों ने जहरीली शराब का सेवन किया है. इस वजह से उन्हें अस्पताल में एडमिट किया गया है. यहां भी ज्यादातर लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है. स्थिति को देखते हुए पुलिस के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और आगे की जांच की जा रही है. अभी के लिए 9 लोगों को पुलिस ने डिटेन भी कर लिया है.

बड़ा सवाल ये भी कि जिस गुजरात में कई सालों से शराबबंदी चल रही है, वहां पर लोगों ने इसका इंतजाम कहा से किया. अभी पुलिस इस पूरे मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है. चार लोगों के मारे जाने की पुष्टि कर दी गई है. पुलिस के मुताबिक जांच के बाद एक आधिकारिक बयान जारी किया जाएगा.

वैसे कहा जा रहा है कि इस मामले में मौत का आंकड़ा और ज्यादा बढ़ सकता है. इस समय अस्पताल में भर्ती कई लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है. उनका इलाज शुरू कर दिया गया है, लेकिन स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. जानकारी ये भी सामने आ रही है कि अहमदाबाद ज़िले के धंधुका में भी ज़हरीली शराब के चलते कई लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है.

यहां ये जानना जरूरी हो जाता है कि कुछ महीनों में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. तमाम पार्टियां चुनावी मोड में आ चुकी हैं. ऐसे में जहरीली शराब वाला ये मामला तूल पकड़ सकता है. आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि गुजरात में नशाबंदी है, फ़िर भी गुजरात में बहुत ज़्यादा Illegal दारू बिकती है. कौन हैं वो लोग जो Illegal दारू बेचते हैं ? जिन्हें राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है और सारा पैसा कहां जाता है? इसकी जांच होनी चाहिए. वैसे गुजरात में जहरीली शराब की घटनाएं कम देखने को मिलती हैं, उत्तर प्रदेश और बिहार में इसके ज्यादा मामले रहते हैं. इसी साल बिहार में होली जश्न के दौरान तीन जिलों में कुल 25 लोगों ने जहरीली शराब की वजह से अपनी जान गंवा दी. बड़ी बात ये है कि गुजरात की तरह बिहार में भी शराबबंदी लागू है, ऐसे में लोगों ने छिपकर इसका इंतजाम किया था.

गुजरात में जहरीली शराब बेच रहे लोगों को प्राप्त है राजनीतिक संरक्षण: केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को गुजरात में जहरीली शराब त्रासदी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और कहा कि शराब बंदी होने के बाद भी राज्य में जो लोग शराब बेच रहे हैं, उन्हें राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने इस बात की जांच की भी मांग की कि जहरीली शराब की बिक्री से मिलने वाले पैसे ‘कहां जाते हैं। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल सोमवार को यहां पोरबंदर हवाई अड्डे पर पहुंचे जहां से वह सोमनाथ गये। वह वहीं रात्रिविश्राम करेंगे। वह मंगलवार को इस प्रसिद्ध मंदिर में प्रार्थना करेंगे।

आप नेता मंगलवार को राजकोट में व्यापारियों के साथ टाउन हॉल बैठक करेंगे । उनकी गुजरात की जुलाई में तीसरी और एक हफ्ते में दूसरी यात्रा है। गुजरात में इस साल आखिर में विधानसभा चुनाव हैं। केजरीवाल ने कहा क‍ि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि गुजरात में मद्यनिषेध के बाद भी भारी मात्रा में अवैध शराब बेची जाती है। ये कौन लोग हैं जो शराब बेचते हैं? उन्हें राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है। (शराब की बिक्री से जो) पैसे आते हैं, वे कहां जाते हैं। इसकी जांच की जरूरत है।

केजरीवाल बोटाड जिले में जहरीली शराब कांड पर पूछे गये गये सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा क‍ि गुजरात के लोग भी मुफ्त बिजली, अच्छे विद्यालय एवं अस्पताल चाहते हैं। वे उन सभी अच्छे कामों की चर्चा कर रहे हैं जो हमने (आप सरकार) किये हैं। वे गुजरात में 27 साल बाद बदलाव चाहते हैं।

About bheldn

Check Also

यूपी में ED का अब तक का सबसे बड़ा ऐक्शन, पूर्व BSP एमएलसी इकबाल की 4400 करोड़ की संपत्ति अटैच

लखनऊ: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने यूपी में सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पूर्व बीएसपी एमएलसी …