लवलीना की शिकायत पर एक्शन में आया खेल मंत्रालय, BFI में मची हलचल

कॉमनवेल्थ गेम्स से ठीक पहले ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल विजेता महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन की शिकायत पर खेल मंत्रालय एक्शन में आ गया है। लवलीना ने सोशल मीडिया पर बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। लवलीना का कहना है कि उनकी कोच संध्या गुरुंग को कॉमनवेल्थ खेल गांव में एंट्री नहीं दी जा रही है जिसके कारण वह सही से ट्रेनिंग नहीं कर पा रही हैं और इससे उनका खेल प्रभावित हो रहा है। लवलीना की इस शिकायत पर खेल मंत्रालय फौरन एक्शन में आ गया है और ओलिंपिक संघ से उनके कोच संध्या गुरुंग को एक्रीडिटेशन की व्यवस्था का आग्रह किया है।

लवलीना का BFI पर आरोप
लवलीना बर्मिंघम ने होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स की तैयारियों में जुटी हुई हैं लेकिन खेल गांव में उनकी कोच संध्या गुरुंग को एंट्री नहीं जी जा रही है। इस पर उन्होंने सोशल मीडिया पर एक नोट जारी कर कहा, ‘आज मैं बहुत दुख के साथ कह रही हूं कि मुझे मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया जा रहा है। ओलिंपिक में पदक लाने में मेरी मदद करने वाले कोच को मेरे प्रैक्टिस और प्रतियोगिता के समय हर बार हटाकर मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘अभी मेरी कोच संध्या गुरुंग कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज के बाहर है। उन्हें एंट्री नहीं मिल रहा है। इससे मेरा ट्रेनिंग खेल से ठीक आठ दिन पहले रुक गया है। मेरे दूसरे कोच को भी भारत वापस भेज दिया गया है।’

BFI ने दी सफाई
लवलीना के आरोप के बाद बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी सफाई दी है। BFI ने कहा है कि वह लवलीना की कोच संध्या को एक्रीडिटेशन दिलाने के लिए लगातार प्रयासरत है। हालांकि यह ओलिंपिक संघ के हाथ में है वह कितनी जल्दी इसे जारी करता है लेकिन उम्मीद है कल तक उन्हें एक्रीडिटेशन मिल जाएगा।

BFI के सचिव हेमंत कलिता ने कहा, ‘हमने पहले सभी नाम दिए थे लेकिन एक कोटा प्रणाली है। क्वालीफाई करने वाले एथलीटों की संख्या के आधार पर 25 प्रतिशत कोटा है। इसलिए हमारे पास चार अधिकारी थे, जिनमें कोच, चिकित्सक आदि शामिल है।’ उन्होंने कहा, ‘हमने आईओए से कोटा बढ़ाकर आठ करने की मांग की है। इसमें चार खेल गांव के अंदर रहेंगे और चार बाहर। चार कोच दिन में खिलाड़ियों के साथ समय बिताकर रात में खेल गांव से बाहर निकल जायेंगे।’

कोच संध्या ने भी दी प्रतिक्रिया
लवलीना के आरोप के बाद खेल मंत्रालय और बॉक्सिंग फेडरेशन इंडिया के बयान के बाद उनकी कोच गुरुंग ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने बताया है कि वह खेल गांव के अंदर नहीं जा पा रही हैं जिसके कारण वह ट्रेनिंग देने में असमर्थ हैं।उन्होंने कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि हमारे सभी मुक्केबाज मेडल लाएंगे। खिलाड़ी हमेशा चाहते हैं कि उनके कोच उनके साथ रहें। मैं लवलीना को ट्रेनिंग नहीं दे पा रही हूं क्योंकि मुझे खेल गांव में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है। मुझे आशा है कि आज यह समस्या हल हो जाएगी अन्यथा मैं उसे ट्रेनिंग नहीं दे पाउंगी।’

About bheldn

Check Also

24 गेंदों पर चौके-छक्के, 27 बॉल पर सेंचुरी… टी20 इंटरनेशनल में जड़ा सबसे तेज शतक

एपिस्कोपी (साइप्रस): अभी वेस्टइंडीज और अमेरिका में टी20 वर्ल्ड कप खेला जा रहा है। इसी …