भावुक खतः पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की वह एक बात जिसे भूल नहीं पा रहे पीएम मोदी

नई दिल्‍ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंदको भावुक चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी को कोविंद ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से शेयर किया है। इसे उन्‍होंने दिल को छू लेने वाला बताया है। इसमें पीएम मोदी ने राष्‍ट्रपति के तौर पर कोविंद के कार्यकाल की जमकर तारीफ की है। कोविंद का उनकी मां हीराबेन से मिलने जाने का भी जिक्र किया है। दूसरों की मदद के लिए अपने पुश्‍तैनी घर को दान दे देने के लिए पीएम मोदी ने कोविंद की प्रशंसा की है। पीएम ने इस बात पर फख्र जाहिर किया है कि उन्‍हें कोविंद के साथ काम करने का मौका मिला। मोदी ने कानुपर में कोविंद के गांव परौंंख जाने की घटना को याद करते हुए इसे कभी नहीं भूलने वाला बताया। सोमवार को द्रौपदी मुर्मू ने राष्‍ट्रपति के तौर पर शपथ ग्रहण की। नई राष्‍ट्रपति के हाथों में कमान सौंपकर रामनाथ कोविंद राष्‍ट्रपति भवन से विदा हो गए।

पीएम की चिट्ठी को पूर्व राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार सुबह शेयर किया। यह चिट्ठी 24 जुलाई की है। उन्‍होंने लिखा- प्रधानमंत्री की चिट्ठी ने उनके दिल को छू लिया। वह दयालुता और प्‍यार से भरे उनके शब्‍दों को उस सम्‍मान के तौर पर लेते हैं जो देश के नागरिकों ने उन्‍हें दिया है। पूर्व राष्‍ट्रपति ने सभी का हृदय से आभार जताया है।

कोविंद के कार्यकाल की जमकर की तारीफ
प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी चिट्ठी में कोविंद के कार्यकाल की जमकर तारीफ की। पीएम ने लिखा, ‘मुझे गर्व है कि मैंने आपके प्रधानमंत्री के रूप में काम किया।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविंद देश के प्रथम नागरिक थे। लेकिन, सबसे कमजोर नागरिक के प्रति उनकी चिंता हमेशा रही। उन्‍होंने दबे-कुचलों को लेकर विशेष ध्‍यान दिया। पीएम ने लिखा कि देश के राष्ट्रपति के रूप में कोविंद का कार्यकाल ईमानदारी, संवेदनशीलता और सेवा की भावना से ओतप्रोत था।

पीएम को छू गईं कोविंद की ये बातें
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आपका अपने पुश्‍तैनी घर को दूसरों की मदद के लिए देना मुझे छू गया। उतना ही मार्मिक यह देखना था कि कैसे आप अपनी जड़ों से जुड़े रहे। लोगों का प्‍यार आपको जैसे मिला वह भी ओतप्रोत करने वाला है। आपका मुझे हैलीपैड पर लेने पहुंचना मुझे जीवनभर याद रहेगा।’ यह तब की बात है जब मोदी कानपुर में कोविंंद के गांव परौंख में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। कोविंद ने अपने पैतृक आवास को सार्वजनिक उपयोग के लिए दान कर दिया था। इसका नाम मिलन केंद्र रखा गया है।

पीएम ने रामनाथ कोविंद को शुभकामनाएं देते हुए लिखा, ‘आपका मेरी मां से मिलना और उनसे बात करना मेरे लिए बेहद खास था। यह आपके मूल्‍यों को दिखाता है और प्रकट करता है कि आप जड़ों से कितना ज्यादा जुड़े हैं।’ प्रधानमंत्री ने पूरे देश की ओर से राष्ट्रपति के रूप में कोविंद के शानदार कार्यकाल और लंबे सार्वजनिक जीवन के लिए बधाई दी।

About bheldn

Check Also

अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता पर अदालत का एक्शन, जानें किस मामले में दिल्ली HC ने भेजा नोटिस

नई दिल्ली दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल को सोशल …