माथे पर चंदन, गले में रुद्राक्ष की माला…सोमनाथ दर्शन के बाद केजरीवाल बोले- सियासी बात नहीं करूंगा

अहमदाबाद

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुजरात पहुंचे हैं। मंगलवार सुबह उन्होंने सोमनाथ मंदिर में दर्शन किए। इस दौरान उन्होंने मीडिया से राजनीति पर बात करने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह मंदि में भक्ति के लिए आए हैं, राजनीति पर बात नहीं करेंगे। मंदिर में दर्शन के बाद बाहर निकले अरविंद केजरीवाल के माथे पर चंदन और तिलक लगा नजर आया। गले में लंबी से रुद्राक्ष की माला पड़ी थी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘मैं यहां भक्ति के लिए आया हूं। राजनीति की बात नहीं करूंगा। गुजरात और देश की सुख शांति और तरक्की की कामना की है। भारत दुनिया का नंबर वन देश बने यह प्रार्थना की है। देश में हर तरफ शांति हो लोग खुश रहें बस यही कामना है।’ उन्होंने यह भी कहा कि सोमनाथ के मंदिर में आकर बहुत शांति मिली है।

1 अगस्त को फिर आएंगे सोमनाथ
आम आदमी पार्टी की तरफ से कहा गया कि सोमनाथ इलाके में अगर राजनीति के बारे में सवाल करना है तो अरविंद केजरीवाल 1 अगस्त को वहां आएंगे। तब राजनीति पर चर्चा करेंगे। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि फिलहाल मंदिर से वह अभी राजकोट और भावनगर जा रहे हैं वहां राजनीति से जुड़े सवालों के जवाब देंगे।

शराबकांड पीड़ितों से मुलाकात
बोटाद और अहमदाबाद में जहरीली शराब के कारण हुई मौतों के मामले में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये बहुत दुखद घटना है। इस हादसे में जिन लोगों की मृत्यु हुई है भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और जो भी लोग अस्पताल में हैं भगवान उन सबको बचाए और उनको जीवन प्रदान करे, मेरी भगवान से प्रार्थना है। उन्होंने कहा कि वह भावनगर में शराबकांड से प्रभावित लोगों से अस्पताल जाकर मुलाकात भी करेंगे।

राजकोट में व्यापारियों से बात
दिल्ली सीएम ने कहा, ‘सभी मृतकों को मैं श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और इस दु:ख की घड़ी में पीड़ितों को मेरी संवेदना व्यक्त करने आज भावनगर अस्पताल जा रहा हूं।’ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुजरात के अपने तीसरे दौरे पर हैं। सोमनाथ मंदिर में प्रार्थना करेने के बाद वह राजकोट में व्यापारियों के साथ संवाद करेंगे।

50 सीटों पर फोकस
इस महीने अहमदाबाद और सूरत के दौरे के बाद उनका ध्यान अब सौराष्ट्र क्षेत्र पर केंद्रित है। राज्य की 182 विधानसभा सीटों में से करीब 50 सीट इसी क्षेत्र से हैं। केजरीवाल ने तीन जुलाई को अहमदाबाद में नि:शुल्क बिजली के मामले पर राज्य के लोगों से बातचीत की थी। बाद में उन्होंने वादा किया कि अगर आप गुजरात में सत्ता में आई, तो प्रति माह 300 यूनिट बिजली नि:शुल्क दी जाएगी। आप ने पंजाब में भी यही वादा किया था, जहां पार्टी ने हाल में सरकार बनाई थी।

गुजरात में इस साल दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं। ‘आप’ स्वयं को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और विपक्षी दल कांग्रेस के विकल्प के रूप में पेश कर रही है। केजरीवाल ने दावा किया है कि गुजरात में कांग्रेस की तुलना में आप के कार्यकर्ताओं का आधार काफी बढ़ा है।

About bheldn

Check Also

ओडिशा में बीजेपी की नई सरकार के एक मंत्री नशे में झूमते आए नजर, कांग्रेस ने वीडियो जारी कर पूछा सवाल

भुवनेश्वर अपने सबसे युवा मंत्री के एक वीडियो से ओडिशा में बीजेपी फंस गई है। …