UP में मकान बनवाने वालों की बढ़ीं मुश्किलें, 1 साल तक बंद रहेंगे ईंट भट्ठे

लखनऊ

अगर आपने मकान बनवाने का प्लान बना लिया है तो आपकी मुसीबत बढ़ने वाली है, क्योंकि उत्तर प्रदेश के ईंट भट्ठे एक साल के लिए बंद होने वाले हैं। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से ईंटों पर GST की दर बढ़ाए जाने और कोयले की कीमतों में 200 से 300 फीसदी बढ़ोतरी किए जाने के बाद यूपी ब्रिक्स एसोसिएशन ने सख्त फैसला लिया है। ईंटों पर जीएसटी बढ़ाए जाने से यूपी ब्रिक्स एसोसिएशन ने 1 साल के लिए हड़ताल पर जाने का फैसला किया है।

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश को 12 लाख टन कोयला मिलना था, लेकिन यूपी को पिछले चार सालों में महज 76 हजार टन कोयला मिला है। विदेश से आने वाला कोयला और महंगा हो गया है। इसके अलावा यूपी ब्रिक्स एसोसिएशन सरकारी निर्माण में लाल ईंट की आंशिक पाबंदी पर नाराज हैं।

क्यों लिया गया हड़ताल का फैसला?
यूपी ब्रिक्स एसोसिएशन की सरकारी और अर्ध सरकारी निर्माण में लाल ईंट की आंशिक पाबंदी पर भी नाराजगी है। यूपी ब्रिक्स एसोसिएशन का कहना है कि कोयला का दाम 350 फीसदी तक बढ़ाया गया है, यहां तक कि श्रमिक संविदा पर 5 फीसदी से 12 फीसदी जीएसटी बढ़ाया गया है।

आसमान छुएंगे ईंट के दाम
उत्तर प्रदेश में अक्तूबर 2022 से सितंबर 2023 तक ईंट भट्ठे बंद रखने और देश में हड़ताल करने का फैसला लिया है। प्रदेश में 19 हजार ईंट भट्ठे हैं, जो एक साल तक बंद रहेंगे। इसका सबसे ज्यादा असर मकान बनवाने वालों पर पड़ेगा। यानी आने वाले समय में ईंट के दाम आसमान छू सकते हैं।

About bheldn

Check Also

अब चाचा ने अजीत पवार गुट में लगाई सेंध? छगन भुजबल शरद पवार से मिलने पहुंचे

मुंबई, महाराष्ट्र सरकार के मंत्री छगन भुजबल की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (अजित पवार) से नाराजगी …