पार्थ चटर्जी के एक और सहयोगी पर ईडी नजर, कारोबारी मनोज जैन के घर पर छापा, अर्पिता के दूसरे घर में ग‍िने जा रहे नोट

कोलकाता

पश्चिम बंगाल में श‍िक्षक भर्ती घोटाले में हुए पैसे के लेनदेन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की कार्रवाई जारी है। राज्‍य सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के दूसरे घर पर भी बड़ी मात्रा में पैसे और गहने मिले हैं। नोट ग‍िनने के लिए पांच मशीनें मंगाई गईं हैं। अर्पित के पहले फ्लैट से ईडी 21 करोड़ रुपए से ज्‍यादा जब्‍त कर चुकी है। उधर बुधवार को कारोबारी मनोज जैन के घर पर छापेमारी हुई। जैन पार्थ के कथित सहयोगी बताए जा रहे हैं।

अर्पिता के दूसरे फ्लैट पर भी नोटों का भंडार
अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट से भी भारी मात्रा में कैश मिलने की खबर आ रही है। ईडी की टीम मौके पर पहुंची है। पैसे ग‍िनने के लिए यहां भी मशीनें मंगाई गई हैं। अर्पिता का ये दूसरा घर कोलकाता के बेलघरिया टाउन क्लब में है। इससे पहले अर्पिता मुखर्जी के एक घर से लगभग 21 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम मिली थी और महत्वपूर्ण कागजात हाथ लगे थे।

नोटों की ग‍िनती के आरबीआई से पांच मशीनों मंगाई गईं है। इससे पहले टालीगंज के डायमंड सिटी कंप्लेक्स में छापामारी के दौरान ईडी ने अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 21 करोड़ रुपए से ज्‍यादा नकद बरामद किया था। बुधवार ईडी ने बेलघरिया स्थित अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट, कसबा राजडांगा, बारासात की साड़ी दुकान सहित छह ठिकानों पर छापा मारा। अर्पिता के बेलघरिया स्थित फ्लैट पर 15 अधिकारियों की टीम पहुंची। अर्पिता के बेलघरिया हाउसिंग में कुल दो फ्लैट हैं। ईडी कई और दूसरे ठिकानें पर भी छापेमारी कर रही है।

About bheldn

Check Also

हम चुप नहीं बैठेंगे… नारायणपुर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद विष्णुदेव साय का बड़ा बयान

नारायणपुर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में शनिवार (15 जून) को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के …