सोनिया और स्मृति के बीच बहस में नेताओं की ‘जितने मुंह उतनी बातें’

नई दिल्ली,

लोकसभा में गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बीच नोकझोंक हुई. अधीर रंजन के राष्ट्रपति पर दिए बयान पर हंगामे के बाद लोकसभा की कार्रवाई स्थगित हो गई थी. इसके बाद सोनिया गांधी सदन से बाहर जाने लगीं, तो बीजेपी के सांसदों ने नारेबाजी कर दी. इसके बाद सोनिया गांधी लौट कर आईं और उन्होंने रमा देवी से पूछा कि सदन में उनका नाम क्यों लिया जा रहा है, जब अधीर रंजन ने माफी मांग ली है. इस पर स्मृति ईरानी ने कुछ कहा तो सोनिया गांधी ने जवाब दिया कि ‘Don’t talk to me. इसके बाद दोनों नेताओं के बीच 2-3 मिनट तक तीखी बहस हुई.

सोनिया और स्मृति के बीच बहस पर अलग अलग दावे

कांग्रेस ने क्या कहा?
कांग्रेस सांसद गीता कोड़ा ने बताया, ”सदन 4 बजे तक स्थगित कर दिया. हम सभी जा रहे थे. तभी बीजेपी के सांसद चिल्लाने लगे. सभी लोग सोनिया गांधी का नाम ले रहे थे. सोनिया गांधी इस पर वापस आईं. वे जानना चाह रही थीं कि क्या बात है. जब वे रमा देवी के पास जा रही थीं. वे यह कह रहीं थीं कि अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांग ली है. फिर ये सब क्यों? तभी बीजेपी के सांसद चिल्लाने लगे कि इस्तीफा दो. यहां तक कि बीजेपी सांसद सोनिया गांधी को उंगली दिखाकर चिल्लाने लगे. स्मृति ईरानी भी तेज तेज चिल्लाने लगे. यहां तक कि स्मृति ईरानी ने यहां तक कहा कि ये बहुत चिल्लाती है. हमें ऐसा लग रहा था कि कहीं बीजेपी के सांसद हम पर हमला न कर दें. इसलिए हम सोनिया गांधी को वहां से निकाल कर वापस लाए.” गीता कोड़ा ने कहा कि सोनिया गांधी के साथ जो कुछ हुआ, वो अशोभानीय है.

कांग्रेस सांसद ज्योत्सना महंत ने कहा, हम लोग वापस लौट रहे थे. तभी बीजेपी सांसदों ने हंगामा कर दिया. उसी वक्त सोनिया गांधी को लगा होगा कि हम हैं तो सीनियर लीडर से बात कर लें, जब वे जाने लगीं, तो हम भी उनके साथ जाने लगे. सोनिया गांधी रमा देवी के पास जा रही थीं. जब सोनिया गांधी रमा देवी से बात कर रही थीं, तभी स्मृति ईरानी वहां आ गईं और चिल्लाने लगीं. कांग्रेस सांसद जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा, आज लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार किया! लेकिन क्या स्पीकर इसकी निंदा करेंगे? क्या नियम सिर्फ विपक्ष के लिए होते हैं?

कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा, आज हमने लोकसभा के अंदर अपनी नेता सोनिया गांधी के प्रति बेहद शर्मनाक व्यवहार देखा. उनके खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए गए. लेकिन निडर नेता होने के नाते सोनिया गांधी महिला सांसदों के पास गईं, लेकिन बीजेपी सांसदों ने बेहद खराब व्यवहार किया. उन्होंने कहा, जो पार्टी महिलाओं के नाम पर नारे लगाती है, उसने आज दिखा दिया है कि कैसे उन्होंने एक और महिला (सोनिया गांधी) का अपमान किया है. हमारी नेता विनम्र हैं. अगर बीजेपी को लगता है कि इस तरह के छोटे व्यवहार से उन पर असर पड़ने वाला है, तो यह उनकी गलती है.

सुप्रिया सुले ने भी बताई पूरी कहानी
एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने बताया कि जब शोर होने लगा तब वो सोनिया गांधी को वहां से लेकर गाड़ी तक छोड़ आईं। उन्होंने कहा, ‘पार्ल्यामेंट 1.205 बजे खत्म हो रहा था। तब सोनिया जी निकल रही थीं। तब सत्ता पक्ष के कुछ लोगों की तरफ से नारेबाजी हुई, पार्ल्यामेंट खत्म होने के बाद। तब सोनिया जी आईं और वो रमा देवी जी से बात करने गईं। मैंने देखा कि रमा देवी जी और सोनिया जी में कुछ बातचीत हो रही है। फिर दोनों पक्ष के सांसद अंदर गए और बहुत आवाजें आने लगीं। तब मैं वहां गई और सोनिया जी से विनती की चलने की। फिर मैं उन्हें गाड़ी तक छोड़ने गई।’

बीजेपी का क्या है दावा?
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, सोनिया गांधी जब हमारी एक सांसद के पास आकर बात कर रही थीं, तब एक हमारी महिला सांसद उनके पास गईं और पूछने लगीं कि क्या हो गया, क्या बात हो रही है. तब सोनिया गांधी ने धमकी भरी आवाज से बात की कि तुम मुझसे बात मत करो. आप देश को गुमराह कर रही हैं. आप बाकी सदस्यों को धमकी दे रही हैं. आपको राष्ट्रपति के खिलाफ ऐसी टिप्पणी करने पर माफी नहीं मांग रही हैं. मैं उनसे अपील करती हूं कि वे देश के सामने आएं और इन सबके लिए माफी मांगे.

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, जिस तरह से अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति का अपमान किया. यह उनकी मानसिकता को दर्शाता है. यह देश हमारे आदिवासियों के साथ इस अपमान को कभी बर्दाश्त नहीं करेगा. इतना सब होने के बाद उन्होंने कहा कि इसके लिए माफी मांगने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा, उसने ऐसा जानबूझकर और दो बार दोहराया. क्या यह एक छोटी सी घटना है? हम कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष से संसद में और देश के सामने माफी मांगने की मांग करते हैं.

अधीर रंजन के बयान पर क्या बोलीं सोनिया गांधी?
वहीं, इस विवाद पर अधीर रंजन चौधरी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा था. लेकिन बीजेपी सोनिया गांधी पर निशाना क्यों साध रही है. मैं बीजेपी को चुनौती देता हूं कि आगे आकर मुझे लड़े. हमारी नेता, जो महिला हैं, उन्हें टारगेट न करें. मैं फिर कह रहा हूं कि गलती हुई है. मैं बंगाली हूं. मेरी हिंदी अच्छी नहीं है. मुझे संसद में बोलकर स्पष्टीकरण देने दीजिए.

इससे पहले अधीर रंजन चौधरी ने कहा, हिंदुस्तान के राष्ट्रपति हमारे लिए राष्ट्रपति ही हैं. एक बात मुंह से निकल गई. जुबान फिसल गई. लेकिन बीजेपी राई का पहाड़ बना रही है. उधर, सोनिया गांधी ने कहा, अधीर रंजन चौधरी पहले ही अपने बयान के लिए माफी मांग चुके हैं.

रमा देवी ने क्या कहा?
जब रमा देवी से बात की तो उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी काफी बौखला गई थीं. उनके मुताबिक सोनिया काफी गुस्से में थीं, उन्हें इस बात की नाराजगी थी कि इस पूरे मामले में उनका नाम घसीटा गया. रमा ने इस बात पर भी जोर दिया कि अगर पार्टी सामने से आकर माफी मांगती है तो उसे स्वीकार कर लिया जाएगा.

About bheldn

Check Also

यूपी में ED का अब तक का सबसे बड़ा ऐक्शन, पूर्व BSP एमएलसी इकबाल की 4400 करोड़ की संपत्ति अटैच

लखनऊ: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने यूपी में सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पूर्व बीएसपी एमएलसी …