मैडम सावधान रहिए, राजस्थान से कुछ लोग आपको…नवनीत राणा को ‘शुभचिंतक’ का खत?

मुंबई

महाराष्ट्र के अमरावती से सांसद नवनीत राणा की जान को खतरा होने की जानकारी सामने आई है। दरअसल उनके एक शुभचिंतक ने उन्हें पत्र लिखकर आगाह किया है। पत्र लिखने वाले ने यह कहा है कि कुछ संदिग्ध लोग राजस्थान की सीमा से अमरावती में दाखिल हुए हैं। वह आपके घर भी आकर गए हैं। इसलिए मैं अल्लाह से आपके लिए प्रार्थना करता हूं कि आपको कुछ भी ना हो। इस तरह की बात पत्र में लिखी गई है। आपको बता दें कि हनुमान चालीसा मुद्दे से सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा सुर्खियों में आए थे। राणा दंपत्ति ने उद्धव ठाकरे को चुनौती देते हुए उनके घर के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की बात कही थी। यह मामला काफी दिनों तक मीडिया की सुर्खियां भी बना था।

इस बात की भी अटकलें चल रही हैं कि नवनीत राणा को आने वाले दिनों में बीजेपी एक बड़ी जिम्मेदारी केंद्र में सौंप सकती है। राणा दंपत्ति शिवसेना के खिलाफ बड़ी ही मुखरता के साथ बोलता रहा है। फिलहाल नवनीत राणा अमरावती में नहीं मुंबई में है। उन्होंने इस बारे में शिकायत करने की बात कही है। उन्होंने नवभारत टाइम्स ऑनलाइन से इस संदिग्ध पत्र के आने की पुष्टि की है।

खत में क्या लिखा है?
निर्दलीय सांसद नवनीत राणा को जो पत्र आया है। उसमें यह बातें लिखी गई हैं, ‘नमस्ते मैडम मैं आपको मेरा नाम नहीं बता सकता हूं। मैं आपके ही शहर का एक आम नागरिक हूं। मैं आपको आगाह करना चाहता हूं कि आप थोड़ा संभल कर रहिए। क्योंकि कुछ लोग आपका पीछा कर रहे हैं। आपने मेरे बहुत से कामों में मेरी हेल्प की है। मैं एक गवर्नमेंट सर्वेंट हूं। आपने मेरा ट्रांसफर भी किया था और मेरे फादर की कोरोना में बहुत हेल्प की थी। मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि कुछ संदिग्ध लोग राजस्थान बॉर्डर से अमरावती आए हैं। मुझे यह जानकारी मिली है कि वह लोग आपके घर भी आ कर गए हैं। मैं अल्लाह से यही दुआ करूंगा कि आपके साथ कुछ अनहोनी ना हो और आप इसी तरह से बड़े से बड़े पद पर जाएं। ऐसी दुआ करता हूं ,खुदा हाफिज।

उमेश कोल्हे हत्याकांड मामले में आई धमकी?
आपको बता दें कि महाराष्ट्र के अमरावती में 21 जून की रात उमेश कोल्हे की बर्बरता से हत्या कर दी गई थी। वो अमरावती में एक मेडिकल स्टोर चलाते थे। उन्होंने बीजेपी नेता नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया था। इस मामले में पुलिस ने कई आरोपियों को गिरफ्तार भी किया था। हालांकि नवनीत राणा ने अमरावती पुलिस कमिश्नर आरती सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्होंने इस मामले को दबाने का प्रयास किया। साथ ही इस की ठीक से जांच नहीं की। राणा ने मामले की जांच केंद्रीय जांच एजेंसियों से करवाने की मांग की थी। जिसके बाद से नवनीत राणा को इस तरह की धमकियां आ रही हैं।

About bheldn

Check Also

एक ही बाइक पर बैठकर परिवार के पांच लोग लौट रहे थे शादी से, एक्सीडेंट में सभी की मौत

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक दर्दनाक सड़क हादसे में पांच लोगों की मौत …