मेघालय: सेक्स रैकेट के आरोपी BJP नेता के फार्महाउस पर विस्फोटक बरामद

शिलॉन्ग ,

मेघालय पुलिस ने सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में गिरफ्तार बीजेपी नेता बर्नार्ड एन मारक के फॉर्महाउस से पुलिस ने विस्फोटक बरामद किया है. इतना ही नहीं बीजेपी के नेता के यहां से पारंपरिक हथियार (धनुष बाण) भी मिले हैं. बर्नार्ड एन मारक को मंगलवार को यूपी के हापुड़ से गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद मारक को पश्चिम गारो हिल्स जिले के तुरा लाया गया. पुलिस ने मारक पर विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और POCSO एक्ट में भी मामला दर्ज कर लिया है.

मारक पूर्व उग्रवादी नेता है. पुलिस ने 22 जुलाई को मारक के फॉर्महाउस पर छापा मारा था. इसके बाद से मारक फरार हो गया था. पुलिस ने इस मामले में 73 लोगों को गिरफ्तार किया है. जबकि 6 नाबालिग (चार लड़के और 2 लड़कियों) का रेस्क्यू किया है.

पुलिस के मुताबिक, बर्नार्ड एन मारक के फॉर्महाउस से 35 जिलेटिन की छड़ें, 100 डेटोनेटर्स और चार क्रॉस धनुष, 15 बाण भी जब्त किए हैं. पुलिस को विस्फोटक और हथियार तब बरामद हुए, जब जिला बाल संरक्षण इकाई और पुलिस की एक टीम रेस्क्यू किए गए बच्चों की किताबें और कपड़े लेने गई थी. मारक के ऊपर पुलिस ने POCSO एक्ट में भी मामला दर्ज कर लिया है. रेस्क्यू किए गए 6 नाबालिगों में से एक ने खुलासा किया है कि एक के साथ शारीरिक शोषण हुआ है.

बर्नार्ड एन मारक गारो हिल्स स्वायत्त जिला परिषद का सदस्य भी है. मारक पर पहले आईपीसी की विभिन्न धाराओं और अनैतिक तस्करी (रोकथाम) अधिनियम, 1956 के तहत मामला दर्ज किया गया था. मारक पर 2000 के दशक की शुरुआत से अब तक 25 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

मेघालय में बीजेपी सत्तारूढ़ एमडीए का हिस्सा है. मेघालय में नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा के नेतृत्व में एमडीए की सरकार है. उग्रवादी से नेता बने मारक ने दावा किया था कि वह निर्दोष है और आरोप लगाया कि वह मुख्यमंत्री द्वारा राजनीतिक प्रतिशोध के लिए उसपर ये आरोप लगाए गए हैं. इतना ही नहीं उसने अपनी जान को भी खतरा बताया है. वहीं, मेघालय बीजेपी ने भी इस दावे का समर्थन किया.

मेघालय में अगले साल चुनाव हैं. पहले कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी बर्नार्ड एन मारक को संगमा के खिलाफ चुनाव लड़ा सकती है. मेघालय के मुख्यमंत्री ने मंगलवार कहा कि उन्होंने भाजपा उपाध्यक्ष को जेल पहुंचाने के लिए कोई आदेश जारी नहीं किया.

About bheldn

Check Also

हम चुप नहीं बैठेंगे… नारायणपुर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद विष्णुदेव साय का बड़ा बयान

नारायणपुर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में शनिवार (15 जून) को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के …