बंगालः टूटे घर में रहती हैं ‘कैश क्वीन’ की मां, नहीं जानती थीं अर्पिता के पास है इतना पैसा

कोलकाता

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भले ही अर्पिता मुखर्जी के लक्जरी घरों पर छापा मारा, लेकिन उत्तर 24 परगना में उनका पुश्तैनी घर सुर्खियों से बाहर रहा। यहां अर्पिता की मां मिनाती मुखर्जी रहती हैं। कोलकाता के बेलघोरिया में अपने पैतृक घर में अपनी बेटी की यात्रा को याद करते हुए उन्होंने कहा, “अर्पिता पिछले हफ्ते यहां आई थी। वह यहां कभी भी ज्यादा समय नहीं बिताती है। वह ज्यादातर अपने घर पर रहती है।”

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 50 साल पहले बने इस जर्जर मकान में मिनाती मुखर्जी अकेली रहती हैं। भर्ती घोटाले में ईडी द्वारा गिरफ्तार की गई अर्पिता मुखर्जी अपनी बीमार मां से मिलने जाती थी और उनके साथ 2-3 घंटे बिताती थी। घर के आसपास के लोगों का कहना है कि अर्पिता ने अपनी मां की दैनिक कामों में सहायता के लिए दो सहायकों की व्यवस्था की थी।

इंडिया टुडे से बात करते हुए मिनाती मुखर्जी ने कहा, “अगर उसने मेरे निर्देशों का पालन किया होता तो मैं उसकी शादी कर देती। उसके पिता सरकारी सेवा में थे, इसलिए उसे वह नौकरी मिल सकती थी। लेकिन उसकी कोई दिलचस्पी नहीं थी। उसने यह घर बहुत पहले छोड़ दिया था।” उन्होंने कहा कि अर्पिता फिल्मों और टेलीविजन शो में काम करना चाहती थी।

ईडी जांच पर प्रतिक्रिया देते हुए अर्पिता की मां ने कहा, “मैंने इसके बारे में समाचारों में सुना। मुझे पैसे के बारे में कुछ नहीं पता। ये कानूनी मुद्दे हैं। मैं उनसे इसके बारे में पूछने की कोशिश करूंगी।” आपको बता दें कि कभी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी रहे पार्थ चटर्जी को मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया गया और तृणमूल कांग्रेस के सभी पदों से हटा दिया गया है। ईडी ने बंगाल स्कूल भर्ती घोटाले में उनकी संलिप्तता के आरोप में गिरफ्तार किया है।

इस बीच बीजेपी नेता अमित मालवीय ने टीएमसी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बढ़ते सबूतों के बीच ममता बनर्जी के पास पार्थ चटर्जी को बर्खास्त करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा, “ममता ने कोई एहसान नहीं किया है, क्योंकि एसएससी घोटाले में कई अनियमितताओं की सूचना मिली है और अपराध की आय का खुलासा हुआ है।”

अर्पिता के ड्राइवर ने भी स्वीकारी कई कारों की बात
अर्पिता मुखर्जी के घर से पहले ED ने नोटों का जखीरा बरामद किया. फिर जांच आगे बढ़ी तो एजेंसी को अर्पिता के चार फ्लैटों की जानकारी मिली, और फिर ईडी को अर्पिता की लग्जरी कारों का पता चला है. हालांकि कैश क्वीन के ड्राइवर ने भी ये बात कही है कि अर्पिता के पास कई गाड़ियां हैं. हालांकि इनमें से कुछ गाड़ियां पिछले कुछ महीनों से गायब हैं. वहीं अर्पिता की चारों कार उनके डायमंड सिटी कॉम्प्लेक्स से गायब बताई जा रही हैं. ये चार कारें Mercedes Benz, Audi A4, Honda CRV और Honda City है. इनमें से 2 कारें- एक होंडा सिटी और दूसरी ऑडी अर्पिता मुखर्जी के नाम पर हैं. जांच एजेंसी इन कारों की तलाश में CCTV फुटेज को खंगाल रही है.

अर्पिता मुखर्जी के घर से कितनी रकम मिली है
पहली छापेमारी
कैश- 21 करोड़ 90 लाख रुपये
सोनाा- 70 लाख रुपये का बरामद

दूसरी छापेमारी
कैश- 27 करोड़ 90 लाख रुपये
सोना- 4 करोड़ 31 लाख रुपये का बरामद

ईडी ने कब की थी रेड?
ईडी ने 23 जुलाई को अर्पिता के फ्लैट पर पहली बार छापा मारा था. इस दौरान ईडी को करीब 21 करोड़ रुपये कैश मिला था. इतना ही नहीं ईडी ने अर्पिता के घर से 20 मोबाइल और 50 लाख रुपये की ज्वैलरी भी बरामद की थी. ईडी को अर्पिता के घर से करीब 60 लाख की विदेशी करेंसी भी मिली थी. इसके बाद ईडी ने अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया था.

पार्थ के 17 ठिकानों पर मारा छापा
पश्चिम बंगाल में शिक्षा घोटाले की जड़े खंगालने में लगी ईडी फुल एक्शन में है. एजेंसी पार्थ चटर्जी से जुड़े करीब 17 ठिकानों पर छापा मार चुकी है. एक दर्जन से ज्यादा नए ठिकानों पर छापेमारी की तैयारी है. डायमंड सिटी के फ्लैट पर 22 जुलाई को छापा पड़ा. बेलघोरिया के दो फ्लैट पर 27 जुलाई को छापा पड़ा, और चिनार पार्क का फ्लैट जहां 28 जुलाई को ईडी दबिश दी. अब तक अर्पिता के चार फ्लैट्स पर ED छापेमारी कर चुकी है.

About bheldn

Check Also

J-K: कुपवाड़ा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, पुंछ में एक जवान शहीद

श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ समय से आतंकी घटनाएं तेज हो गई हैं. इस कड़ी …