टीम के माहौल से परेशान होकर डिएंड्रा डॉटिन ने क्रिकेट से लिया संन्यास, टी20 में लाग चुकी हैं सबसे तेज शतक

वेस्टइंडीज महिला क्रिकेट टीम की स्टार ऑलराउंडर डिएंड्रा डॉटिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। उन्होंने कहा कि वह टीम की मौजूदा कल्चर और माहौल में अपना करियर आगे जारी नहीं रख सकती। महिला टी20 इंटरनेशनल में सबसे तेज शतक लगाने वाली 31 साल की डॉटिन ने ट्विटर पर अपने संन्यास की घोषणा की। उन्होंने कहा, ‘अपने क्रिकेट करियर के दौरान मेरे सामने कई ऐसी बाधाएं आई, जिन्हें मुझे दूर करना पड़ा। लेकिन टीम का वर्तमान माहौल मेरे जुनून को बढ़ाने और उसे जीवंत बनाए रखने के अनुकूल नहीं है।’

डिएंड्रा डॉटिन साल 2010 के टी20 विश्व कप में साउथ अफ्रीका के खिलाफ महज 38 गेंदों में यह शतक जड़कर सनसनी मचा दी थी। सफेद गेंद क्रिकेट में डिएंड्रा दुनिया सबसे खतरना महिला क्रिकेटरों में एक मानी जाती हैं। बल्लेबाजी के अलावा गेंदबाजी में भी विरोधी टीम के लिए घातक साबित हुई हैं।

डॉटिन ने कहा, ‘बड़े दुख लेकिन किसी तरह के अफसोस के बिना मुझे यह अहसास हुआ कि मैं अब टीम संस्कृति और उसके माहौल का पालन करने में सक्षम नहीं हूं क्योंकि इससे उत्कृष्ट प्रदर्शन करने की मेरी क्षमता पर प्रभाव पड़ रहा है।’

डॉटिन ने हालांकि यह संकेत नहीं दिए कि उन्होंने बारबाडोस की तरफ से भी संन्यास ले लिया है या नहीं। वह अभी कॉमनवेल्थ गेम्स में बारबाडोस का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। उन्होंने कहा कि वह विश्व भर में घरेलू क्रिकेट में खेलती रहेंगी। डॉटिन वेस्टइंडीज की तरफ से सर्वाधिक मैच खेलने वाली महिला खिलाड़ी है।

उन्होंने 2008 में डेब्यू करने के बाद 124 टी20 इंटरनेशनल और 143 वनडे मैच खेले। उन्होंने 30.54 की औसत से 3727 वनडे रन बनाए हैं जिसमें तीन शतक शामिल हैं। उनके नाम पर टी20 इंटरनेशनल में 2697 रन दर्ज हैं। इस प्रारूप में उन्होंने दो शतक लगाए हैं।

About bheldn

Check Also

टी20 में कौन करेगा टीम इंडिया की कैप्टेंसी? गौतम गंभीर बोले- वह ऐसे कप्तान…

कोलंबो, आईसीसी मेन्स टी20 वर्ल्ड कप 2024 में भारतीय टीम ने ऐतिहासिक विजय हासिल की …