UP: 10 लाख में था लेखपाल परीक्षा का ठेका, रामपुर का रिंकू बन गया बिहार का संजीव!

बरेली/लखनऊ,

उत्तर प्रदेश में रविवार को हुई लेखपाल भर्ती परीक्षा में सॉल्वर गैंग ने बड़े पैमाने पर गड़बड़ी फैलाई. कहीं परीक्षार्थी की जगह पर कोई दूसरा शख्स एग्जाम दे रहा था तो कहीं ब्लूटूथ के जरिए नकल कराई जा रही थी. यूपी एसटीएफ ने प्रयागराज से लेकर बरेली, कानपुर, लखनऊ गोंडा समेत कई शहरों में एक साथ छापेमारी की और कुल 21 लोगों को गिरफ्तार किया.

बरेली में लेखपाल भर्ती परीक्षा के दौरान बिहार के नालंदा जिले से आया एक अभ्यर्थी, दूसरे अभ्यार्थी की जगह पर परीक्षा देते हुए पकड़ा गया. एसटीएफ को सूत्रों से खबर मिली कि जीजीआईसी में नालंदा का रहने वाला सॉल्वर अभ्यर्थी, रामपुर के अभ्यर्थी के स्थान पर परीक्षा दे रहा था. सूचना मिलते ही जिला प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे.

नालंदा से आया सॉल्वर दे रहा था परीक्षा
एसटीएफ की टीम में जिला प्रशासन की संयुक्त टीम के साथ अभियान चलाकर सभी अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र चेक किए तो पता चला जीजीआईसी के कमरा नंबर 4 में एक अभ्यर्थी का प्रवेश पत्र फोटो के प्रवेश पत्र से मिलान नहीं हुआ. कड़ी पूछताछ में फर्जी अभ्यर्थी ने बताया कि वह रामपुर के रहने वाले अभ्यर्थी के स्थान पर परीक्षा देने के लिए आया था.

पकड़ा गए सॉल्वर अभ्यार्थी का नाम राजीव कुमार है, जो कि बिहार के नालंदा जिले में वार्ड नंबर 7 में रहता है. पूछताछ में बताया गया कि यह रामपुर के अभ्यार्थी रिंकू के स्थान पर परीक्षा देने के लिए आया था. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के 12 मंडल मुख्यालयों के 501 परीक्षा केंद्रों पर रविवार को राजस्व लेखपाल भर्ती परीक्षा हुई.

सॉल्वर गैंग सरगना समेत 21 आरोपी गिरफ्तार
इस परीक्षा में भी सॉल्वर गैंग ने बड़े पैमाने पर सेंधमारी करने की कोशिश की. यूपी एसटीएफ ने इस मामले में प्रयागराज के सॉल्वर गैंग सरगना समेत 21 लोगों को गिरफ्तार किया है. परीक्षा केंद्रों पर ब्लूटूथ डिवाइस लगाकर परीक्षा दे रहे सॉल्वर गैंग और उससे जुड़े लोगों को गिरफ्तार किया. धंधे में माहिर नरेंद्र पटेल और संदीप पटेल को गिरफ्तार किया किया गया.

वहीं गिरफ्तार विजय कांत पटेल विभिन्न परीक्षा केंद्रों से कुछ दूरी पर कार में बैठकर सॉल्वरों से परीक्षा प्रश्न पत्र हल करवा रहा था. गिरफ्तार संदीप पटेल, पहले भी कई बार जेल जा चुके डॉ केएल पटेल का करीबी रहा है. केएल पटेल की आईटीआई में टीचर रहते ही संदीप ने पेपर लीक कराने और सॉल्वर से परीक्षा पेपर हल कराने के धंधे के गुर सीखे थे.

10-10 लाख रुपये लेकर परीक्षा पास कराने का ठेका!
गिरफ्तार विजयकांत पटेल ने 10- 10 लाख रु लेकर परीक्षा में पास कराने का जिम्मा लिया था, जिसके लिए उसने कैंडिडेट के कान में ब्लूटूथ लगा दिया था, इसी ब्लूटूथ के जरिए परीक्षार्थी को उसके सवालों के जवाब बताए जा रहे थे.

गिरफ्तार विजयकांत पटेल प्रयागराज के नकल व शिक्षा माफिया केएल पटेल का पुराना साथियों और उसके स्कूल का टीचर रहा है. विजयकांत के साथ केएल पटेल से जुड़े संदीप पटेल और नरेंद्र पटेल भी इस परीक्षा में सॉल्वर गैंग से सेंधमारी कर रहे थे. यूपी एसटीएफ ने प्रयागराज, बरेली, लखनऊ, मेरठ, कानपुर, गोंडा से कुल 21 लोगों को गिरफ्तार किया है.

About bheldn

Check Also

महाराष्ट्र में बीजेपी को झटका…10 साल बाद शरद पवार की अगुवाई वाली NCP में लौटीं सूर्यकांता पाटिल

मुंबई: महाराष्ट्र में लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। पूर्व राज्य …