ताइवान के चारों ओर से बारूद बरसाएगा चीन, पेलोसी की ताइवान यात्रा का मिसाइलों से जवाब देगी PLA

बीजिंग

अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी मंगलवार को ताइवान पहुंच गईं। चीन की तमाम धमकियों को धता बताते हुए उनका विमान ताइपे में लैंड हुआ। इस बीच चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने ऐलान किया है कि वह गुरुवार से रविवार तक ताइवान के आसपास के छह क्षेत्रों में लाइव-फायर एक्सरसाइज सहित महत्वपूर्ण सैन्य अभ्यास और प्रशिक्षण करेगी। चीन ने यह ऐलान ऐसे समय पर किया है जब पेलोसी ताइपे में मौजूद हैं।

चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक देश के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि पीएलए ईस्टर्न थिएटर कमांड ताइवान के आसपास ज्वाइंट मिलिट्री ऑपरेशन का संचालन करेगी। द्वीप के उत्तर, दक्षिण पश्चिम, दक्षिण पूर्व में संयुक्त समुद्री और हवाई अभ्यास के साथ, ताइवान जलडमरूमध्य में लंबी दूरी की तोप की शूटिंग और द्वीप के पूर्वी समुद्री क्षेत्रों में मिसाइल टेस्ट फायरिंग मंगलवार रात से शुरू हो रही है।

‘देश की संप्रभुता की रक्षा करेगी PLA’
चीनी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि पीएलए ताइवान द्वीप पर पेलोसी की यात्रा के जवाब में टारगेटेड मिलिट्री ऑपरेशन की एक सीरीज शुरू करेगी और देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की दृढ़ता से रक्षा करेगी। चीन के विदेश मंत्रालय ने भी नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा की निंदा की है। मंत्रालय ने पेलोसी के ताइवान पहुंचने को चीन की संप्रभुता का ‘गंभीर उल्लंघन’ बताया है।

चीन और अमेरिका ने तैनात की अपनी सेनाएं
अमेरिका ने मंगलवार को चार युद्धपोत और एक एयरक्राफ्ट कैरियर ताइवान के पूर्व में तैनात किए जिसे अमेरिकी नौसेना ने ‘रूटीन तैनाती’ बताया। इससे पहले अमेरिका ने अपने दो एयरक्राफ्ट कैरियर, दर्जनों युद्धपोत और 3 सबमरीन को ताइवान की सीमा के बेहद करीब भेजा था। वहीं चीन ने भी बड़े पैमाने पर घातक युद्धपोत और फाइटर जेट ताइवान की ओर तैनात किए हैं। सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे वीडियो में चीन की सेना समुद्र के किनारे नजर आ रही है जहां से ताइवानी द्वीप सिर्फ 10 किमी दूर है।

About bheldn

Check Also

एक नींद की झपकी और 14 लोगों की दर्दनाक मौत… यहां जानिए कैसे हुआ रुद्रप्रयाग में भयंकर हादसा

रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर रैतोली गांव के समीप शनिवार …