मंकीपॉक्स ने बढ़ाई चिंता, देश में अब तक 8 लोग पॉजिटिव, एक की मौत

नई दिल्ली,

देश में मंकीपॉक्स के केसों की संख्या भले ही कम हो लेकिन यह धीरे-धीरे बढ़ रही है. देश में अब मंकीपॉक्स के केसों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है, इनमें दिल्ली के तीन और केरल के पांच केस हैं. दिल्ली में मंकीपॉक्स के संदिग्ध 35 वर्षीय नाइजीरियाई युवक की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई है. यह युवक फिलहाल दिल्ली में ही रहता है. यह हाल में कहीं भी विदेश यात्रा पर नहीं गया था.देश में इसका पहला केस 14 अप्रैल को केरल में मिला था.

दिल्ली: निजी अस्पतालों में होगा मंकीपॉक्स का इलाज
दिल्ली में अभी तक मंकीपॉक्स से संक्रमितों का इलाज लोक नायक जय प्रकाश (LNJP) अस्पताल में किया जा रहा है, लेकिन अब स्वास्थ्य विभाग ने तीन प्राइवेट अस्पतालों को भी मंकीपॉक्स के इलाज के लिए निर्देश दे दिए हैं.

नॉर्थ दिल्ली के MD सिटी हॉस्पिटल, ईस्ट दिल्ली के कैलाश दीपक हॉस्पिटल और साउथ दिल्ली के बत्रा हॉस्पिटल को आइसोलेशन रूम बनाने के लिए कहा गया है. आदेश के मुताबिक हर अस्पताल को 5 रूम सस्पेक्ट मंकीपॉक्स केस के लिए और 5 रूम कन्फर्म मंकीपॉक्स केस के लिए तैयार करने होंगे.मालूम हो कि LNJP अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में फिलहाल 10 बेड्स की व्यवस्था की गई है. अस्पताल में 20 डॉक्टर्स की टीम तैनात हैं, जिसमें स्किन स्पेशलिट, फिजिशियन, माइक्रो बायोलॉजी के साथ-साथ नर्सिंग स्टॉफ, हेल्थ वर्कर्स शामिल हैं.

लोगों को डरने की जरूरत नहीं: स्वास्थ्य मंत्री
स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने राज्यसभा में बताया कि भारत में अब तक मंकी पॉक्स के 8 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 5 दुबई और शारजाह से लौटे हैं.उन्होंने बताया कि उन्होंने यूएई को लिखकर पूछा है कि यूएई में पॉजिटिव आने के बाद ये लोग भारत क्यों आ रहे हैं. उन्होंने कहा, देश में लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. हम सुरक्षा के लिए कदम उठा रहे हैं. मनसुख मांडविया ने बताया कि इंटरनेशनल और घरेलू एयरपोर्ट पर जांच की जा रही है. उन्होंने बताया कि भारत में मई में मंकीपॉक्स को लेकर गाइडलाइन जारी की गई थी.

केरल में मंकीपॉक्स का एक और केस
केरल में मंगलवार को मंकीपॉक्स का एक और मामला सामने आया है. स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज के मुताबिक मलप्पुरम में एक 30 वर्षीय शख्स मंकीपॉक्स की चपेट में आया है. वह 27 जुलाई को यूएई से लौटा था. फिलहाल उसका इजाज रहा है. राज्य में अब तक 5 मामले सामने आ चुके हैं.

राजस्थान में भी मिले दो संदिग्ध
अब राजस्थान में भी मंकीपॉक्स के दो संदिग्ध मरीज सामने आए हैं. इसमें पहला मरीज अजमेर और दूसरा भरतपुर का है. दोनों को जयपुर स्थित राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस (RUHS) लाया गया है. फिलहाल मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया है. उनके सैंपल को आगे जांच के लिए पुणे भेजा गया है.

देश में मंकीपॉक्स से हो चुकी है पहली मौत
भारत में 1 अगस्त को मंकीपॉक्स की वजह से पहली मौत की पुष्टि हुई थी. केरल में 22 साल का युवक UAE से लौटा था. इसके बाद उसमे मंकीपॉक्स के लक्षण पाए गए, जिसके बाद 30 जुलाई को उसकी मौत हो गई थी. बाद में जब उसका सैंपल जांच के लिए NIV पुणे भेजा गया तो उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इससे पहले केरल में मिले मंकीपॉक्स के तीन मरीज पूरी तरह ठीक हो चुका हैं, ये भी मिडिल ईस्ट से आए थे.

About bheldn

Check Also

‘केजरीवाल को कुछ सुविधा चाहिए तो इसमें ईडी की कोई भूमिका नहीं…’, राउज एवेन्यू कोर्ट की टिप्पणी

नई दिल्ली, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने शुक्रवार को तिहाड़ जेल के अधीक्षक से …