करप्शन मामलों की जांच में देरी क्यों ? दिल्ली एलजी ने ACB अधिकारियों से मांगी सफाई

नयी दिल्ली

दिल्ली के उपराज्यपाल वी.के. सक्सेना ने विभिन्न मामलों की जांच में अत्यधिक देरी होने के लिए मंगलवार को भ्रष्टाचार रोधी शाखा (एसीबी) से स्पष्टीकरण मांगा। सक्सेना ने सतर्कता विभाग को भी भ्रष्टाचार की शिकायतों पर कार्रवाई करते समय उचित तत्परता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। विभाग ने एक बयान में यह जानकारी दी। बयान में कहा गया है, ‘उपराज्यपाल वी. के. सक्सेना ने सरकारी अधिकारियों के खिलाफ शिकायतों या भ्रष्टाचार के मामलों की जांच के दौरान भ्रष्टाचार रोधी शाखा (एसीबी) और सतर्कता निदेशालय (डीओवी) सहित जांच एजेंसियों की तरफ से प्रक्रियात्मक चूक और देरी को गंभीरता से लिया है। ‘

बयान के अनुसार उन्होंने संबंधित प्रशासनिक विभागों द्वारा अपने अधिकारियों के खिलाफ दर्ज शिकायतों के संबंध में जांच एजेंसियों की तरफ से मांगी गई टिप्पणियों को प्रस्तुत नहीं करने या देरी करने पर भी नाराजगी व्यक्त की। उपराज्यपाल ने एसीबी के अधिकारियों से एक वर्ष से अधिक समय से लंबित सभी मामलों के बारे में स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही विभाग को ऐसे सभी मामलों की सूची और इनके लंबित होने के कारणों के बारे में बताने के लिए कहा है।

About bheldn

Check Also

गुजरात में प्रत्येक नौकरी के लिए 3.2 करोड़ रुपये की सब्सिडी, एचडी कुमार स्वामी ने उठाए सवाल

नई दिल्ली केंद्रीय इस्पात और उद्योग मंत्री और जेडीएस नेता एच डी कुमारस्वामी ने शुक्रवार …