कर्नाटक में 15 अगस्त से पहले सीएम बदल सकती है बीजेपी! अमित शाह के दौरे के बाद लग रहीं अटकलें

बेंगलुरु

बिहार में सत्ता हाथ से जाने के बाद बीजेपी अब कर्नाटक पर फोकस कर रही है जहां अगले साल चुनाव हैं। ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि कर्नाटक में बीजेपी एक बार फिर अपना सीएम बदल सकती है। हाल ही में कर्नाटक में हुई हत्याएं, खासकर भाजयुमो कार्यकर्ता की हत्या मामले में सीएम बसवराज बोम्मई अपनी ही पार्टी के अंदर निशाने पर हैं। इसके बाद बसवराज बोम्मई का अपना दिल्ली दौरा रद्द करने पर कयासबाजी तेज हो गई। हालांकि उनके करीबियों का कहना है कि सीएम कोविड-19 से संक्रमित थे इसलिए दिल्ली नहीं गए।

कर्नाटक सरकार में नेतृत्व के बदलाव की चर्चा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के दौरे के बाद तेज हो गई। अमित शाह के 3 अगस्त के दौरे पर भी बोम्मई अलग-थलग नजर आए थे। मुख्यमंत्री को 7 अगस्त को नीति आयोग की बैठक में भी शामिल होना था लेकिन कोविड पॉजिटिव होने के कारण उन्होंने दौरा रद्द कर दिया। बोम्मई के दिल्ली दौरा के कई मायने निकाले जा रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कि उन्हें सीएम पद से हटाया जा सकता है इसलिए वह दिल्ली नहीं गए।

कोविड होने की वजह से नहीं गए दिल्ली
इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, सीएमओ के करीबी सूत्रों ने बताया, ‘ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि बोम्मई ने इसलिए दौरा रद्द किया क्योंकि पार्टी नेतृत्व उनसे पद छोड़ने के लिए कह सकता है लेकिन यह सच नहीं है। कोविड पॉजिटिव पाए जाने के चलते उन्होंने दौरा रद्द किया।’ कर्नाटक के पूर्व सीएम जगदीश शेट्टार और मंत्री गोविंद करजोल ने उन रिपोर्ट्स का खंडन किया है जिसमें कहा जा रहा है कि वे सीएम की रेस में हैं। इस बीच मंत्री उमेश कट्टी ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के बदलाव की स्थिति में उनकी भी दावेदारी रहेगी।

15 अगस्त से पहले बदला जा सकता है सीएम
येदियुरप्पा कैंप के करीबी पूर्व विधायक ने कहा कि कर्नाटक का सीएम 15 अगस्त से पहले बदला जा सकता है। पूर्व बीजेपी विधायक सुरेश गौड़ा ने कहा, पार्टी में बातचीत चल रही है। स्वतंत्रता दिवस से पहले सीएम बदल सकता है।राज्य सरकार के सूत्रों के अनुसार, बीजेपी नेतृत्व कर्नाटक में अपनी सरकार को लेकर चिंतित है। नेतृत्व पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या और खराब प्रशासन सहित कई मुद्दों के चलते विश्वसनीयता खोने से परेशान है। इसके अलावा पार्टी में कथित तौर पर चल रही गुटबाजी भी चिंता का सबब बन गया है। नेतृत्व को लगता है कि गुटबाजी 2023 विधानसभा चुनाव में पार्टी की तैयारियों में बाधा डाल सकती है।

About bheldn

Check Also

नोएडा : पहले दो बेटियों को चौथी मंजिल से नीचे फेंका, फिर मां ने लगाई छलांग, दो की मौत

नोएडा , उत्तर प्रदेश के नोएडा से दर्दनाक घटना सामने आई है. जहां एक मां …