रूस आतंकवाद का प्रायोजक देश, 19 लाख की आबादी वाले लातविया ने पुतिन से लिया सीधा पंगा

रिगा

यूरोपीय देश लातविया ने रूस को स्टेट स्पांसर टेररिज्म वाला देश घोषित कर दिया है। लातविया नाटो का सदस्य होने के साथ रूस का पड़ोसी देश भी है। इस देश की सीमा रूस और बेलारूस से जुड़ी हुई है। लातविया की संसद ने इस बाबत प्रस्ताव पारित कर कहा कि यूक्रेन में रूस की कार्रवाई यूक्रेनी लोगों के खिलाफ लक्षित नरसंहार है। बयान में कहा गया है कि लातवियाई संसद रूस को आतंकवाद के एक राज्य प्रायोजक के रूप में मान्यता देती है और अन्य समान विचारधारा वाले देशों से समान विचार व्यक्त करने का आह्वान करती है।

लातविया ने यूक्रेन में हिंसा को बताया आतंकवाद
लातवियाई सांसदों ने कहा कि वे राजनीतिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए यूक्रेनी नागरिकों के खिलाफ रूस की हिंसा को आतंकवाद मानते हैं। उन्होंने डर फैलाने और बड़ी संख्या में नागरिकों को मारने के लिए क्लस्टर हथियारों के उपयोग की भी निंदा की। बयान में यह भी कहा गया है कि रूस यूक्रेन के लोगों और सशस्त्र बलों को हतोत्साहित करने और उस पर कब्जा करने के लिए क्रूर सैन्य शक्ति का इस्तेमाल कर रहा है। वह यूक्रेन के आम नागरिकों को निशाना बनाने के लिए प्रतिबंधित हथियारों का इस्तेमाल भी कर रहा है।

यूरोपीय संघ से रूसी नागरिकों का वीजा बंद करने को कहा
संसद ने यूरोपीय संघ से रूसी और बेलारूसी नागरिकों के लिए पर्यटक वीजा जारी करना बंद करने और एंट्री वीजा में कटौती करने का भी आग्रह किया। हालांकि, उसकी मांग पर यूरोपीय संघ की तरफ से अभी तक कोई भी बयान नहीं आया है। यूरोपीय संघ ने पहले ही रूस पर कई तरह के प्रतिबंध लागू किए हैं। इनमें आर्थिक प्रतिबंधो के अलावा रूसी विमानों के यूरोपीय संघ के सदस्य देशों के ऊपर उड़ान भरने पर पाबंदी भी शामिल है। यूरोपीय संघ ने रूसी उद्योगपतियों की संपत्तियों को भी जब्त किया है।

कितना ताकतवर है लातविया
लातविया बाल्टिक सागर के किनारे बसा एक देश है। इस देश की सीमा रूस से सटी हुई है। लातविया की आबादी 19 लाख के आसपास है। यह देश 2004 में अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य संगठन नाटो का सदस्य बना था। लातविया भी 1991 तक यूक्रेन की तरह सोवियत संघ का हिस्सा था। सोवियत संघ के पतन के बाद लातविया एक स्वतंत्र राष्ट्र बना। लातविया की सेना में एक्टिव सैनिकों की संख्या 16200 है। इस देश का सैन्य बजट 758 मिलियन डॉलर है। वहीं रूसी सेना में 10 लाख से ज्यादा एक्टिव पर्सनल्स हैं।

यूक्रेन में रूस के खिलाफ लड़ने की दी छूट
लातविया ने फरवरी में एक प्रस्ताव पारित कर अपने नागरिकों को यूक्रेन में रूस के खिलाफ लड़ने की छूट दी थी। इसके लिए लातवियाई संसद ने देश के राष्ट्रीय सुरक्षा कानून में भी बदलाव किया था। हालांकि, लातविया की सीमा यूक्रेन से सीधे सटी हुई नहीं है। इसलिए उसके नागरिकों को यूक्रेन जाने के लिए पोलैंड, स्लोवाकिया, हंगरी या रोमानिया की मदद लेनी पड़ती है।

About bheldn

Check Also

हेल्पर के लिए बुलाकर भारतीयों से रूस में छीना गया पासपोर्ट, जंग लड़ने को किया मजबूर

नई दिल्ली, यूक्रेन से जंग लड़ रहे रूस से एक भयावह रिपोर्ट सामने आ रही …