नीतीश कुमार की मर्जी से ही केंद्र में मंत्री बने थे RCP सिंह, BJP ने दे दिया सबूत

पटना

नीतीश कुमार बिहार एनडीए से अलग हो चुके हैं। आरजेडी समते 7 दलों के समर्थन से बिहार में एक बार फिर महागठबंधन की सरकार बनी है। नीतीश कुमार 8वीं बार मुख्यमंत्री तो तेजस्वी यादव दूसरी बार उपमुख्यमंत्री बने हैं। बीजेपी से अलग होने के बाद जेडीयू नेताओं ने बीजेपी पर कई आरोप लगाए। जेडीयू की ओर से कहा जा रहा है कि आरसीपी सिंह को बीजेपी ने खुद मंत्री बना दिया था। आरोप तो ये भी है कि बीजेपी आरसीपी का इस्तेमाल जेडीयू को कमजोर करने के लिए कर रही थी। जेडीयू के आरोपों पर बीजेपी के नेता लगातार जवाब भी दे रहे हैं। इसी कड़ी में बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जेडीयू को सबूत के साथ जवाब दिया है।

रविवार को बीजेपी सांसद सुशील कुमार मोदी बैक टू बैक कई ट्वीट किए। बीजेपी नेता अपने ट्वीट में जेडीयू और जेडीयू के कई नेताओं के ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी लगाया है। राज्यसभा सांसद द्वारा शेयर किए गए स्क्रीनशॉट में जेडीयू के कई नेता आरसीपी को केंद्र में मंत्री बनने पर बधाई दे रहे हैं। स्क्रीनशॉट के साथ सुशील कुमार मोदी ने लिखा है कि नीतीश जी कह रहे हैं कि RCP को बिना पूछे केंद्र में मंत्री बना दिया? JDU के tweet और ये चित्र कुछ और बयान कर रहे हैं।

ट्वीट में जेडीयू नेताओं के पुराने ट्वीट का स्क्रीनशॉट
सुशील मोदी ने अपने ट्वीट के साथ जेडीयू नेताओं के पुराने ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर किया है। स्क्रीनशॉट में जेडीयू नेता अशोक चौधरी, विजय कुमार चौधरी, उमेश सिंह कुशवाहा समेत कई नेताओं ने बधाई दी है। इसके अलावे सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में एक तस्वीर भी शेयर की है, जिसमें दिख रहा है कि जेडीयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है। नीतीश कुमार की उपस्थिति में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव रखा, जिसे कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया।

गौरतलब है कि बीजेपी के नेता लगातार इस बात को लेकर जेडीयू पर हमलावर है कि आरसीपी सिंह को बिना नीतीश कुमार से पूछे मंत्री बनाया गया था। सुशील मोदी कई मौकों पर कह चुके हैं कि नीतीश कुमार ने ही आरसीपी का नाम आगे बढ़ाया था। उनके कहने पर ही केंद्र में उन्हें मंत्री बनाया गया था। जबकि जेडीयू का कहना है कि बीजेपी ने बिना नीतीश के सहमति के ही आरसीपी को केंद्र में बना दिया था और बाद में उन्हें जेडीयू के खिलाफ ही इस्तेमाल करने लगी। ललन सिंह ने तो यहां तक कह दिया था कि आरसीपी को आगे कर बिहार में दूसरा चिराग मॉडल तैयार किया ज रहा था। इसी को लेकर सुशील कुमार मोदी ने पुराने स्क्रीनशॉट के साथ इस बार ट्वीट किया है और जेडीयू के साथ-साथ नीतीश को सबूत के साथ जवाब दिया है।

About bheldn

Check Also

लोकसभा चुनाव से पहले मायावती को बड़ा झटका, BSP छोड़ने की तैयारी में सभी 10 सांसद?

लखनऊ: लोकसभा चुनाव से पहले देश के सबसे बड़े सियासी सूबे उत्तर प्रदेश में पूर्व …