J&K पर अमित शाह की हाई लेवल मीटिंग, UAPA के तहत दर्ज मामलों पर बड़ा फैसला

नई दिल्ली,

देश के सबसे संवेदनशील इलाकों में से एक जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा को लेकर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक हाई लेवल बैठक की. इस दौरान आतंकवाद रोधी कानून यानी UAPA के तहत दर्ज मामलों की समीक्षा कर इनकी जांच में तेजी लाने और आतंकवाद के इकोसिस्टम को ध्वस्त करने के लिए कई बड़े फैसले किए गए. बैठक में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी मौजूद रहे.

जानकारी के मुताबिक बैठक में निर्णय किया गया कि पिछले तीन साल के दौरान UAPA के तहत दर्ज किए गए मामलों की समीक्षा होगी. इस कानून के तहत उन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाता है जो देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त पाए जाते हैं. समीक्षा करने के बाद इन मामलों की जांच को तेज गति से पूरा कर अंजाम तक पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं.

जारी रहेगा आंतक विरोधी अभियान
इसके अलावा गृह मंत्री अमित शाह ने केन्द्र शासित प्रदेश में आतंकवाद के इकोसिस्टम को ध्वस्त करने के निर्देश भी सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों को दिए हैं. उन्होंने जम्मू कश्मीर में आतंक विरोधी अभियान इसी गति से जारी रखने के लिए कहा है.

सफल अमरनाथ यात्रा की सराहना
गृह मंत्री अमित शाह ने क्षेत्र में इस साल अमरनाथ यात्रा के सफल आयोजन के लिए सुरक्षा एजेंसियों के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर प्रशासन के प्रयासों की भी सराहना की. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समृद्ध और शांतिपूर्ण जम्मू-कश्मीर के विजन को पूरा करने के लिए सुरक्षा बलों और पुलिस को सीमा व एलओसी को अभेद्य बनाने का प्रयास जारी रखना चाहिए.

छद्म युद्ध पर जल्द होगी विजय प्राप्त
गृह मंत्री अमित शाह ने केन्द्र शासित प्रदेश से आतंकवाद का सफाया करने के लिए सुरक्षा बलों और पुलिस को सुनियोजित आतंकवाद विरोधी अभियानों को जारी रखने के लिए कहा. साथ ही बोले कि जम्मू-कश्मीर के लोग सुरक्षा बलों की मदद से इस छद्म युद्ध (Proxy War) पर जल्द ही निर्णायक विजय प्राप्त करेंगे.

About bheldn

Check Also

‘मोदी की एक ही गारंटी है सभी कांग्रेस सरकारों को गिराओ’, हिमाचल संकट पर जयराम रमेश का तीखा वार

नई दिल्ली, हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस का सियासी संकट अब एक कदम और आगे बढ़ …